पॉजिटिव मामलों के आंकड़े तय करेंगे कोरोना कर्फ्यू में ढील या सख्ती : डा परूथी

नाहन : जिला सिरमौर में आने वाले समय में कोरोना कर्फ्यू में ढील या सख्ती पॉजिटिव मामलों के आंकड़ों के अनुसार तय की जाएगी। यदि लोगों की लापरवाही से पॉजिटिव मामलों में वृद्धि होती है तो कोरोना कर्फ्यू के नियमों को और अधिक सख्त किया जा सकता है।

यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर डा0 आर0के0 परूथी ने देते हुए बताया कि कोरोना कर्फ्यू के बाद भी इतने मामले आना यह दर्शाता कि अभी भी लोग कोविड-19 प्रोटोकॉल का सही से पालन नहीं कर रहे हैं। वर्तमान में जिला में कोविड-19 के 2491 एक्टिव मामले दर्ज हैं जिनमें से 2294 संक्रमित व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं। पिछले दो दिनों में जिला में रिक्वरी दर में सुधार हुआ है परन्तु पॉजीटिव दर लगातार बढ़ रही है जोकि चिंता का विषय है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वह अपने घरों में रहें तथा अनावश्यक रूप से बाजार न आए ताकि संक्रमण की कडी को तोडा जा सके।

उपायुक्त ने बताया कि यदि अति आवश्यक हो तो कोरोना संक्रमित व्यक्ति प्रशासन द्वारा स्थापित कंट्रोल रूम 1077 पर फोन कर सहायता प्राप्त कर सकता है।उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि कोविड-19 संक्रमण से अपने बच्चों को बचाने के लिए विशेष ध्यान दें क्योंकि शोध में पाया गया कि आने वाले समय में यह बीमारी बच्चों को ज्यादा प्रभावित कर सकती है।

उपायुक्त ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त आयुष विभाग द्वारा भी नाहन में लोगों को होम आइसोलेशन तथा लक्षणों के आधार पर अतिरिक्त दवाइयां घर द्वार पर पहुँचाई जा रही है ताकि वह जल्दी ठीक हो सकें। इस दौरान नाहन में पाया गया है कि यदि संक्रमित व्यक्ति आयुष विभाग द्वारा दी गई दवाई को तीसरे दिन से लेना आरम्भ करे तो छठे-सातवें दिन तक उनमें काफी सुधार हो रहा है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में आयुष विभाग द्वारा यह दवाइयां पूरे जिला में पहुंचाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 रोगी अपने ऑक्सीजन स्तर की जांच करते रहें। यदि ऑक्सीजन स्तर कम हो रहा हो तो तुरन्त चिकित्सक से सम्पर्क करें और अस्पताल में अपना इलाज करवाए। इलाज मे देरी के कारण कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़ रही है जो कि चिंता का विषय है।