पूर्व मुख्य्मंत्री वीरभद्र सिंह की तबीयत ज्यादा बिगड़ी, चंडीगढ़ रेफर

शिमलाः हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री वीरभद्र सिंह को गुरुवार सुबह आइजीएमसी शिमला से पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया है। आइजीएमसी शिमला के एमएस डॉक्‍टर जनकराज ने बताया कि शिमला में धुंध ज्‍यादा होने के कारण आने वाले दिनों में सांस लेने में और दिक्‍कत न हो इस कारण उन्‍हें रेफर किया गया है. उन्होंने बताया कि वीरभद्र सिंह की छाती में भी इंफेक्‍शन हो रहा था, इसलिए उन्‍हें रेफर कर दिया गया।

मंगलवार (17 सितंबर) को हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री एवं कांग्रेस के दिग्‍गज नेता वीरभद्र सिंह की तबीयत बिगड़ गई थी. उन्हें आइजीएमसी में भर्ती किया गया. उनकी तबीयत अचानक खराब होने पर सीधे आइजीएमसी शिमला लाया गया. पूर्व सीएम के ब्लड टेस्ट, ईसीजी और ईको टेस्ट करवाए गए थे।

88 वर्षीय वीरभद्र सिंह इससे पहले भी रूटीन चेकअप के लिए आइजीएमसी आते रहते हैं. लेकिन मंगलवार (17 सितंबर) को अचानक तबीयत खराब होने पर उन्‍हें आपात स्थिति में अस्‍पताल पहुंचाया गया है. पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को सांस लेने में दिक्कत हो रही है।

वीरभद्र सिंह 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रह चुके हैं व प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस के सबसे बड़े चेहरे हैं. उनके बेटे विक्रमादित्‍य सिंह शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं, जबकि पत्‍नी प्रतिभा सिंह मंडी संसदीय क्षेत्र से सांसद रह चुकी हैं. वीरभद्र सिंह का पूरा परिवार राजनीति में है. वीरभद्र सिंह आठ बार विधायक, छह बार प्रदेश के मुख्यमंत्री और पांचवीं बार लोकसभा में बतौर सांसद रह चुके हैं और पिछले आधे दशक में वे कोई चुनाव नहीं हारे।