पानी की टंकी में डूबने से अध्यापिका की मौत

घर के आंगन में पानी की टंकी में डूबने से एक अध्यापिका की मौत हो गई है। घटना शनिवार देर रात 10:00 बजे नगर परिषद घुमारवीं की आदर्श कॉलोनी की है। पुलिस प्रथम दृष्टया मान रही है कि पानी चेक करते टंकी में मोबाइल गिरने और उसे निकालने के प्रयास में महिला की डूबने से मौत हुई है। अध्यापिका की 31 मार्च को रिटायरमेंट थी। परिवार के सदस्य लोगों को कार्यक्रम के कार्ड बांटे रहे थे। महिला के पति की दो साल पहले हादसे में मौत हो गई थी। अध्यापिका की पहचान सुजाता देवी (57) पत्नी स्वर्गीय करतार सिंह निवासी गांव तुनसू डाकघर मरहाणा के रूप में हुई है।

डीएसपी घुमारवीं अनिल ठाकुर ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पाया कि शनिवार देर रात सुजाता देवी आंगन में रखी 1000 लीटर पानी की टंकी को चेक करने गई। कुर्सी पर चढ़कर टंकी को देखते समय हाथ में पकड़ा मोबाइल फोन उसमें गिर गया। मोबाइल को पकड़ने के प्रयास में अध्यापिका झुकीं और टंकी में गिर गईं। पुलिस मामला दर्ज कर सभी पहलुओं की जांच कर रही है।

सुजाता मंडी जिला के खनोट पाठशाला में कार्यरत थीं और इसी माह रिटायर होने वाली थीं। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त सुजाता का बेटा घर पर था। मां काफी देर तक भीतर नहीं आईं तो बेटे ने खोज शुरू की। मां को पानी की टंकी में डूबा देख बेटे ने स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में डॉक्टरों ने सुजाता को मृत घोषित कर दिया।