पंचकूला दुष्कर्म मामला : छत्तीसगढ़ की युवती ने हरियाणा के डीजीपी से लगाई कार्रवाई की गुहार

सांकेतिक तस्वीर

पंचकूला के सेक्टर-5 स्थित महिला थाने में छत्तीसगढ़ की युवती ने दुष्कर्म के आरोप लगाकर सुधीर राणा के खिलाफ 5 अगस्त को शिकायत दी थी। उसने आरोप लगाया कि आईओ सुनीता और एसएचओ नेहा चौहान ने बिना जानकारी दिए एफआईआर कैंसल कर दी। न तो इसके लिए कॉल की और न ही कोई नोटिस दिया गया। युवती ने आरोप लगाया कि आरोपी सुधीर राणा ने उसे जान से मारने की धमकी दी है। इसके बाद भी पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। पुलिस की तरफ से बिना नोटिस दिए एफआईआर रद्द कर दी गई। युवती ने बुधवार को यह शिकायत पंचकूला स्थित डीजीपी ऑफिस में दी है।

शादी का झांसा देकर बनाए थे संबंध  
युवती ने आरोप लगाया कि शादी का झांसा देकर आरोपी सुधीर राणा ने उसके साथ दो साल तक दुष्कर्म किया था। इस दौरान वह उसे होटल में ले जाकर संबंध बनाता था। युवती ने बताया कि उसने शादी करने के लिए एक साल का समय मांगा। इस पर उसने हामी भर दी। इसके बाद उसने अपना रोका दूसरी जगह कर लिया। जब युवती को इस बात का पता चला, तो आरोपी सुधीर राणा से उसने मुलाकात की। इस पर सुधीर राणा ने उसे धमकी देकर कहा कि उसके पिता डीएसपी सुभाष राणा हैं।

मेडिकल नहीं कराया था पुलिस ने
युवती के अनुसार आरोपी ने कहा कि उसके पिता सीएम तक पहुंच रखते हैं। उसका कोई कुछ नहीं कर सकता है। युवती ने बताया कि वह 21 अक्तूबर को दोबारा पंचकूला महिला थाने में गई। उसने अपने केस के बारे में पूछा तो पता चला कि उसकी एफआईआर कैंसल कर दी गई है। उसे इसकी जानकारी महिला थाना प्रभारी ने 24 अक्तूबर को दी है। आरोप लगाया कि वह सबूत पुलिस को पहले दे चुकी है। होटल के बिल सहित सभी चीजें दी थी। एफआईआर इन्हीं सबूतों पर लिखी गई थी। इसके बाद पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई। उसका मेडिकल तक नहीं कराया गया।