नितिन गडकरी का कुल्लू दौरा: जलोड़ी और भूभू टनल का तोहफा मिलने की उम्मीद

केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के 23 जून को प्रस्तावित कुल्लू दौरे से जिला वासियों को बड़े तोहफे मिलने की उम्मीद है। अपने पांच दिवसीय दौरे के दौरान केंद्रीय मंत्री जलोड़ी टनल, औट-आनी-सैंज हाईवे-305, भूभू टनल के साथ भुंतर-मणिकर्ण मार्ग के विस्तारीकरण का तोहफा दे सकते हैं। ये सभी प्रोजेक्ट कई सालों से लटके हुए हैं।  प्रदेश में अगले साल विस चुनाव भी होने वाले हैं। ऐसे में लोगों को उनके दौरे से बड़ी उम्मीद है।

साल में करीब छह माह तक जिला मुख्यालय से अलग-थलग रहने वाले बाह्य सराज की 69 पंचायतों की 1.30 लाख आबादी 80 के दशक से जलोड़ी दर्रे के नीचे से टनल की मांग कर रही है। पिछले दो दशकों से प्रदेश की सरकारों ने जलोड़ी टनल बनाने की कई घोषणाएं की। लेकिन सब घोषणाएं हवा हवाई साबित हुई हैं। 2014 में टनल के साथ औट-आनी-सैंज हाईवे का मुंबई की ध्रुव नामक कंपनी ने सर्वे किया।

लेकिन तब से लेकर अब तक 4.2 लंबी किमी टनल और करीब 97 किलोमीटर लंबे हाईवे की डीपीआर को मंजूरी नहीं मिली है। कुल्लू की लगघाटी की भूभू जोत को भेदकर बनने वाली भूभू टनल सरकार की फाइलों में बंद पड़ी है। भूभू टनल से कुल्लू से जोगिंद्रनगर की दूरी करीब 70 किलोमीटर कम होगी। इसका भी सर्वेक्षण किया गया है। उधर, धार्मिक नगरी मणिकर्ण तथा विदेशी सैलानियों की पहली पसंद रही पार्वती घाटी को जोड़ने वाली 35 किलोमीटर लंबी भुंतर-मणिकर्ण सड़क का विस्तारीकरण भी दो दशकों से लटका है।

ऐसे में केंद्रीय मंत्री गडकरी के कुल्लू दौरे में दशकों से लटके इन प्रोजेक्टों को हरी झंडी मिलने की पूरी संभावना है। इन प्रोजेक्टों से न केवल जिले के हजारों लोगों की आवाजाही आसान होगी, बल्कि पर्यटन को भी पंख लगेंगे। केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री के दौरे से न केवल प्रदेश सत्ताधारी सरकार को बड़ी उम्मीदें हैं, बल्कि उनके दौरे पर विपक्षी दल कांग्रेस की भी नजर रहेगी।

प्रदेश सरकार की ओर से जलोड़ी, भूभू टनल के साथ जिला कुल्लू व प्रदेश के प्रोजेक्टों को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के समक्ष रखा जाएगा। प्रदेश सरकार हिमाचल के विकास को लेकर प्रयासरत है। -गोविंद ठाकुर, शिक्षा मंत्री

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी कुल्लू दौरे के दौरान जिले के लंबित टनल व सड़कों के प्रोजेक्टों को मंजूरी प्रदान करें। कीरतपुर-मनाली फोरलेन का काम बहुत धीमा चल रहा है, इसमें मंत्री तेजी लाएं। समय मिला तो वह केंद्रीय से मिलकर लंबित प्रोजेक्टों को लेकर पत्र सौंपेंगे। -सुंदर सिंह ठाकुर, विधायक कुल्लू