नालागढ़: सरिया उद्योग में हुआ धमाका, तीन कामगारों की मौत

औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ के तहत ढाना स्थित सरिया उद्योग की फर्नेंस में स्कैप पिघलाते वक्त हुए धमाके की चपेट में आकर तीन कामगारों की मौत हो गई, जबकि पांच अन्य गंभीर रूप से झुलस गए। घायलों का स्थानीय अस्पताल में उपचार चल रहा है। बताया जा रहा है कि यह हादसा उस वक्त पेश आया, जब सरिया उद्योग में स्क्रैप पिघलाया जा रहा था।  स्क्रैप पिघलाते वक्त फर्नेंस (भठ्ठी) में जोरदार धमाका हुआ और पिघला हुआ लोहा वहां काम कर रहे कामगारों के ऊपर जा गिरा। हादसे के शिकार  मजदूरों मुख्तयार सिंह (37) पुत्र बाबा राम निवासी बड़ा बसौट नालागढ़, रंजन कुमार (36 )पुत्र विनदा लाल प्रसाद निवासी बिहार व चंद्रेश्वर शाह (35) पुत्र राम चंद्र शाह निवासी बिहार शामिल हैं। इन कामगारों का 70 फीसदी से ज्यादा शरीर झुलस गया था और इनकी मौत पीजीआई चंडीगढ़ में हुई।

इसके अलावा शंभू राम (42) पुत्र समूह राम निवासी बिहार, ओम प्रकाश (41) पुत्र छात्र राम निवासी बिजनौर, विंदेश (34)पुत्र राम नाथ निवासी बिहार सहित दो अन्यों का नालागढ़ के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। पुलिस ने इस मामले में स्टील उद्योग प्रबंधन के खिलाफ लापरवाही का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। नालागढ़ के तहसीलदार ने मौके पर जाकर घायलों को पांच-पांच हजार, जबकि मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपए की फौरी राहत प्रदान की है। डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस पड़ताल कर रही है कि उद्योग में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे या नही। फिलहाल नालागढ़ पुलिस ने इस मामले में धारा 331, 287 व 304 ए के तहत स्टील उद्योग प्रबंधन के खिलाफ लापरवाही का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

दो मृतक निकले संक्रमित

हादसे में जान गंवाने वाले तीन कामगारों में से दो कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। पीजीआई में उपचार के दौरान करवाए गए कोविड टेस्ट में मुख्तयार सिंह व चंद्रेश्वर पॉजिटिव निकले हैं। प्रशासन संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की जानकारी जुटा रहा है दोनों की प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही है।