नहीं बढ़ने चाहिए मंत्रियों, विधायकों के भत्ते : विक्रमादित्य सिंह

शिमला: पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे और शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ने मंत्रियों, विधायकों और पूर्व विधायकों के यात्रा भत्ते बढ़ाने का विरोध किया है। विक्रमादित्य ने सोशल मीडिया पर इस संबंध में पोस्ट डाली है। लिखा है कि मैं सदस्यों के भत्ते और पेंशन संशोधन विधेयक का विरोध करता हूं। प्रदेश सरकार इस समय वित्तीय संकट से गुजर रही है। भत्ते बढ़ाने से राजकोष पर वार्षिक 2.20 करोड़ का अतिरिक्त भार पड़ेगा। सदन में जब बिल पेश किया गया तब भी मैंने इस पर अपना विरोध जताया है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विधानसभा में सदस्यों के भत्ते और पेंशन संशोधन विधेयक, विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष वेतन संशोधन विधेयक और मंत्रियों के वेतन और भत्ता संशोधन विधेयक सदन में पेश किए थे। आज इन्हें मंजूरी मिल जाएगी। इन तीनों विधेयकों में यात्रा भत्ता मौजूदा 2.50 लाख रुपये वार्षिक से बढ़ाकर 4 लाख करने का प्रस्ताव पेश किया था।