धारटीधार की तीन सड़कों को एफआरए की मंजूरी

0
2

ददाहू (सिरमौर)। धारटीधार क्षेत्र की तीन सड़कों के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इन सड़कों के निर्माण के लिए एफआरए की स्वीकृति मिलने से क्षेत्र लोगों में खुशी का माहौल है। धारटीधार क्षेत्र की दो पंचायतों के तीन राजस्व गांवों की 2,000 की आबादी जल्द सड़क सुविधा से जुड़ेगी। एफआरए की स्वीकृति मिलते ही ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। यह मामला पिछले तीन वर्षों से लटका था।
धारटीधार क्षेत्र की भरोग बनेड़ी पंचायत से गुजरने वाली मुख्य सड़क जमटा-राजबन से समौन तक 1150 मीटर, गारला कनौन से अनुसूचित जाति बस्ती राहन तक 650 मीटर और कांडों कांसर पंचायत में मुख्य सड़क से कांडों तक 900 मीटर लंबी सड़कों को एफआरए की हरी झंडी मिल गई है। उधर, क्षेत्र के लोगों ने सड़कों की स्वीकृति को लेकर प्रदेश सरकार के साथ-साथ वन विभाग का भी आभार जताया है।

भरोग बनेडी पंचायत की प्रधान अंजना शर्मा, कांडों कांसर पंचायत के प्रधान रामलाल और बीडीसी सदस्य वेद प्रकाश ने बताया कि एफआरए की स्वीकृति के बिना बीते लंबे समय से ही इन सड़कों का निर्माण लटका हुआ था। एफआरए की स्वीकृति मिलते ही अब जल्द इन सड़कों का निर्माण शुरू करके लोगों को सड़क सुविधा का लाभ दिया जाएगा, तकि किसानों को अपनी नकदी फसलों को मुख्य सड़क तक पहुंचाने की सुविधा मिल सके।
डीएफओ पांवटा साहिब कुणाल अंग्रीश ने बताया कि मंडल से जुड़ी कुछ सड़कों को एफआरए की स्वीकृति मिली है, जिनमें धारटीधार क्षेत्र की तीन सड़कें भी शामिल हैं।
दो पंचायतों के सैकड़ों परिवारों को मिलेगी सुविधा
धारटीधार क्षेत्र की तीन सड़कों के निर्माण से दो पंचायतों के सैकड़ों परिवारों को इसका लाभ लाभ मिलेगा। इन सड़कों के बनने से भरोग बनेड़ी और कांडों कांसर पंचायतों के समौन कनौन, कल्हाड़ी, राहन, क्यारटू, गारला, कांडों, कांसर और ढांड आदि गांव की करीब 2,000 की आबादी को दशकों बाद सड़क सुविधा से जोड़ा जा सकेगा। बीते तीन वर्षों से लोग इन सड़कों के निर्माण की आस लगाए बैठे हैं, जिसके निर्माण का रास्ता अब साफ हो गया है।