दूरदर्शन और सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के बीच समन्वय बढ़ाने की आवश्यकता: महानिदेशक दूरदर्श

दूरदर्शन के महानिदेशक मयंक अग्रवाल ने गत सायं यहां सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के निदेशक हरबंस सिंह ब्रसकोन व वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इस अवसर पर दूरदर्शन के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। मंयक अग्रवाल ने सरकार के कार्यक्रमों व योजनाओं के प्रभावी प्रचार व प्रसार के लिए दूरदर्शन व विभाग के अधिकारियों के मध्य समन्वय बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सोशल मीडिया में भी दूरदर्शन के कार्यक्रमों की लोकप्रियता बढ़ी है। यू-टयूब के माध्यम से भी दूरदर्शन के कार्यक्रम पूरे विश्व में देखे जाते हैं। उन्होंने कहा कि पहाड़ी राज्यों की विकास यात्रा में दूरदर्शन का बहुत महत्व रहा है।

उन्होंने सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग और दूरदर्शन द्वारा आपसी सहयोग से विकासात्मक कार्यक्रम तैयार करने की आवश्यकता पर भी बल दिया। हरबंस सिंह ब्रसकोन ने मंयक कुमार अग्रवाल को हिमाचली शाॅल व टोपी भेंट कर स्वागत किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि दूरदर्शन आरम्भ से ही सूचना सम्प्रेषण का प्राथमिक स्रोत रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकासात्मक सूचकांक पूरे देश में बेहतरीन हैं और हिमाचल बहुत से क्षेत्रों में आदर्श राज्य बन कर उभरा है। हरबंस सिंह ब्रसकोन ने महानिदेशक से प्रदेश की उपलब्धियों को राष्ट्रीय स्तर पर भी स्थान देने का अग्रह किया। उन्होंने प्रदेश के पर्यटन महत्व के अनछुए स्थलों, लोक कथाओं, धार्मिक स्थानों, समृद्ध संस्कृति व सरकार की विकासात्मक योजनाओं पर आधारित कार्यक्रमों का प्रसार और बढ़ाने का आग्रह किया।

इस अवसर पर दूरदर्शन व सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के अधिकारियों ने विभिन्न विषयों पर विस्तार से चर्चा की।