हिमाचल पर्यटन निगम: गुच्छी के शौकीनों के लिए 600 रुपये में मिलेगी मदरा की प्लेट

हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम (एचपीटीडीसी) के सभी होटलों और रेस्टोरेंट में अब सैलानी और स्थानीय लोग गुच्छी के व्यंजनों का लुत्फ उठा सकेंगे। टेस्ट ऑफ  हिमाचल सेगमेंट में पर्यटन निगम ने शिमला के होटल हॉलिडे होम से इसकी शुरुआत की है। बाजार में 30 से 32 हजार रुपये किलो बिकने वाली गुच्छी का मदरा होटल हॉलिडे होम में 608 रुपये प्रति प्लेट के दाम पर उपलब्ध करवाया जा रहा है। एक प्लेट मदरा दो लोग शेयर कर खा सकते हैं।

होटल हॉलिडे होम के रेस्टोरेंट के मेन्यू में गुच्छी की रेसेपी शामिल कर दी गई है। गुच्छी का वैज्ञानिक नाम मार्कुला एस्कयुलेंटा है, इसे हिमाचल में चैऊ भी कहते है। जंगलों में यह प्राकृतिक रूप से उगता है। इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक होने के साथ गुच्छीहार्ट डिजीज, डायबिटीज, गठिया, स्तन कैंसर से बचाव के लिए बेहद लाभप्रद है। इसमें विटामिन बी, डी और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाए जाते है।

कई तरह की दवाएं बनाने में भी इसका प्रयोग होता है। गुच्छी से मिट्टी हटाकर इसे धोने के बाद पानी में भिगोया जाता है। गुच्छी का तना काट कर इसे सुखाया जाता है। सूखने के बाद देसी घी में दही भूनकर गुच्छी मदरा तैयार किया जाता है।पर्यटन विकास निगम के उप महाप्रबंधक नंदलाल शर्मा ने बताया कि होटल हॉलिडे होम के मेन्यू के ट्रेडिशनल फूड सेगमेंट में गुच्छी की रेसिपीज को शामिल किया गया है। पर्यटन विकास निगम के प्रदेश के सभी रेस्टोरेंट में गुच्छी की डिश उपलब्ध करवाने की तैयारी है।

पीएम मोदी भी हैं गुच्छी की सब्जी के मुरीद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पहाड़ों में उगने वाली गुच्छी की सब्जी के मुरीद हैं। मोदी ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि वह हफ्ते में एक बार गुच्छी की सब्जी जरूर खाते हैं, जो उनकी बेहतर सेहत का राज भी है ।