तीसरी लहर इसी महीने, अक्तूबर मेें चरम पर होगा कोरोना

नई दिल्ली: देश में एक दिन में कोविड-19 के 40,134 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,16,95,958 हो गई है, वहीं उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमण से 422 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,24,773 हो गई। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 4,13,718 हो गई, जो कुल मामलों का 1.31 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 2,766 बढ़ोतरी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.35 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 46,96,45,494 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 14,28,984 नमूनों की जांच रविवार को की गई।

नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 2.81 प्रतिशत है। वहीं, नमूनों के संक्रमित आने की साप्ताहिक दर 2.37 प्रतिशत है। देश में अभी तक कुल 3,08,57,467 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है। देश में कोरोना के मामले कम होने के बाद फिर एक बार बढ़ते नजर आ रहे हैं। पिछले पांच दिनों से देश में कोरोना के केस 40 हजार के पार आ रहे हैं। इस बीच विशेषज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चेतावनी जारी की है, जिससे लोग चिंतित हैं। विशेषज्ञों की मानें तो अगस्त में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।

विशेषज्ञों ने कहा है कि तीसरी लहर के दौरान हर रोज एक लाख कोरोना केस सामने आ सकते हैं और खराब स्थिति में कोरोना के मामले डेढ़ लाख तक भी पहुंच सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार अगस्त के महीने में शुरू होने वाली तीसरी लहर अक्तूबर में अपने पीक पर नजर आएगी। ब्लूमबर्ग ने खबर दी है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में हो रही वृद्धि कोरोनो वायरस महामारी की तीसरी लहर को आगे बढ़ाने का काम करेगी, जो अक्तूबर में चरम पर पहुंच सकती है। विशेषज्ञों ने कहा कि केरल और महाराष्ट्र में जिस तरह कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, इससे स्थिति खराब होने के आसार हैं।