तीन जिला अध्यक्षों, 15 ब्लॉक अध्यक्षों को हटाएगी कांग्रेस, रिपोर्ट बनाकर दिल्ली लौटे संजय दत्त

प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी संजय दत्त सात दिवसीय प्रदेश प्रवास के बाद वीरवार को दिल्ली लौट गए हैं। प्रदेश कांग्रेस से लेकर जिला और ब्लॉक स्तर पर हुई बैठकों के बाद तैयार की गई रिपोर्ट को वह अपने साथ ले गए हैं। इस रिपोर्ट में निष्क्रिय हो चुके तीन जिला अध्यक्षों सहित 15 ब्लॉक अध्यक्षों को हटाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। विधानसभा चुनावों में तीन बार हारने वाले और जमानत जब्त करवाने वाले नेताओं को वर्ष 2022 के चुनावों में टिकट न देने की रिपोर्ट में सिफारिश की गई है।

कहा गया है कि फ्रंटल संगठनों के सक्रिय पदाधिकारियों को टिकट दिया जाए। दत्त दिल्ली पहुंचते ही रिपोर्ट को हाईकमान को सौंप देंगे। दो चरणों में प्रदेश के दौरे पर आए दत्त ने ब्लॉक से लेकर प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों से एक-एक कर बैठकें की हैं। इन सभी के फीडबैक के आधार पर रिपोर्ट तैयार की गई है। बेहतर कार्य करने वाले नेताओं और कार्यकर्ताओं का कद बढ़ाने की सिफारिश की गई है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर की कार्यप्रणाली से सह प्रभारी संतुष्ट बताए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने कमर कस ली है। युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, इंटक, सेवादल सहित पार्टी के अन्य विभागों के सक्र्रिय पदाधिकारियों को अब चुनावों में कांग्रेस का टिकट देने की तैयारी शुरू की गई है।

उपचुनावों पर दत्त ने राठौर-मुकेश से की गुफ्तगू
प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी संजय दत्त ने वीरवार को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में उपचुनावों पर प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के साथ बंद कमरे में गुफ्तगू की। इस गुफ्तगू के बाद मीडिया से बातचीत में दत्त ने कहा कि उपचुनाव के लिए टिकटों का चयन हाईकमान करेगी।

दत्त ने शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह से बैठक कर मंडी संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव पर भी चर्चा की। पालमपुर के विधायक आशीष बुटेल से राजनीतिक मसलों पर मंथन किया। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन हर्षवर्धन के साथ बैठक में दत्त ने कहा कि कांग्रेस की नीतियों व कार्यक्रमों के बारे में समय-समय पर मीडिया के साथ संवाद जारी रहना चाहिए।