टीम इंडिया ने ओवल में रचा इतिहास; 157 रन से हराया इंग्लैंड, भारत सीरीज में 2-1 से आगे

भारत और इंग्लैंड के बीच केनिंग्टन ओवल में खेला गया चौथा टेस्ट टीम इंडिया ने 157 रन से जीत लिया है। मैच में इंग्लैंड के सामने 368 रन का टारगेट था, लेकिन 210 रन पर पूरी टीम ढेर हो गई और भारत ने मुकाबला जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बनाई। 50 साल बाद भारतीय टीम ओवल के मैदान पर कोई टेस्ट मैच जीतने में सफल रही। मैच में भारतीय गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला। टीम की यादगार जीत में उमेश यादव ने तीन, जबकि बुमराह, शार्दुल और जडेजा ने दो-दो विकेट चटकाए। एक समय इंग्लैंड मजबूत स्थिति में नजर आ रहा था। ऐसा लग भी रहा था कि शायद टीम मैच ड्रॉ कराने में सफल रहेगी। पर मध्यक्रम में टीम का एक भी खिलाड़ी विकेट पर खड़े रहने का साहस नहीं दिखा सका। इंग्लैंड ने 52 रन के भीतर एक के बाद एक छह विकेट गंवाए। यहां से भारतीय गेंदबाजों ने इंग्लैंड को वापसी का मौका नहीं दिया और शानदार जीत दर्ज की।

ओवल में 1902 में हुआ था सफल चेज

ओवल के मैदान पर आखिरी बार सबसे सफल चेज साल 1902 में देखने को मिला था। उस समय आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के सामने 263 रन का टारगेट रखा था, जिसे इंग्लैंड ने 9 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया था। उसके बाद 1963 में विंडीज ने इंग्लैंड के सामने 253 रन का लक्ष्य रखा था, जिसे मेजबान ने सिर्फ दो विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया था।

बुमराह का टेस्ट क्रिकेट में ‘विकेट का शतक

लंदन। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने ओवल टेस्ट के 5वें दिन इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपने विकेटों का शतक पूरा कर लिया। इसके साथ बुमराह टेस्ट में सबसे तेज 100 विकेट लेने वाले भारतीय पेसर बन गए हैं। उन्होंने 24 टेस्ट मैचों में यह उपलब्धि हासिल की। बुमराह ने इस दौरान दिग्गज कपिल देव का रिकार्ड तोड़ा, जिन्होंने 25 टेस्ट मैचों में 100 विकेटों का आंकड़ा छुआ था। बुमराह ने ये रिकार्ड ओवल टेस्ट के पांचवें दिन दूसरे सेशन में इंग्लैंड के बल्लेबाज ओली पोप को आउट कर बनाया। बुमराह के इस खास उपलब्धि पर सोशल मीडिया पर उन्हें खूब बधाई मिल रही है।