जरूरतमंद छात्रों को मिलेंगे फ्री मोबाइल; शिक्षा मंत्री बोले; प्रदेश सरकार करेगी डोनेट डिवाइस प्रोग्राम लांच

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को सरकार फ्री मोबाइल बांटेगी। ईपीटीएम के अंतिम दिन शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार डोनेट डिवाइस प्रोग्राम लांच करेगी। इसके माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की पहचान की जाएगी। वहीं जिन छात्रों के पास स्मार्ट मोबाइल नहीं होंगे, उन्हें पढ़ाई के लिए सरकार शिक्षा विभाग व लोगों की मदद से बांटेगी। बता दें कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अभी भी 10 प्रतिशत छात्र ऐसे हैं, जिनके पास मोबाइल नहीं हैं और उनकी पढ़ाई पिछले डेढ़ साल से प्रभावित हो रही है। फिलहाल शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने ई-पीटीएम के अंतिम दिन कहा है कि सरकारी स्कूलों के ऐसे बच्चे, जिनके पास ऑनलाइन स्टडी करने के लिए स्मार्टफोन नहीं है, अब इन बच्चों को स्मार्टफोन उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी शिक्षा विभाग की होगी। इस कार्यक्रम के तहत लोग अपने मोबाइल फोन शिक्षा विभाग को देंगे, जिन्हें आगे बच्चों को दिया जाएगा। हालांकि अभी शिक्षा विभाग इस संबंध में गाइडलाइन तैयार कर रहा है।

जल्द ही कार्यक्रम लांच किया जाएगा। ईपीटीएम के समापन अवसर पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि अधिकतर अभिभावकों ने ऑनलाइन क्लासेज को और बेहतर करने का सुझाव दिया है। इसी सुझाव के मद्देनजर शिक्षा विभाग शिक्षकों को संबंधित रिफ्रेशर कोर्स करवाएग, ताकि शिक्षक बेहतर तरीके से ऑनलाइन क्लासेज में बच्चों को पढ़ा सकें। इसके साथ ही शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकारी स्कूलों की सभी विद्यार्थियों को प्रिंटेड वर्कशीट मुहैया करवाई जाएगी। वर्कशीट प्रिंट करवाने के आर्डर दे दिए हैं। इस दौरान उन्होंने बताया कि समग्र शिक्षा ने अब व्हाट्सऐप को इसके लिए यूनिक आईडी तैयार की है। इसके तहत विद्यार्थियों को अब एक ही नंबर से जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि इस बार ई-पीटीएम के माध्यम से 12962 स्कूलों तक पहुंचा गया है। इसमें 48000 शिक्षकों ने भाग लिया, 676 792 विद्यार्थियों व 293863 अभिभावक इससे जुड़े हैं।

कोविड ड्यूटी में लगे टीचर्ज से होगी बात

शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस दौरान कोविड- ड्यूटी में लगे शिक्षकों के साथ भी ऑनलाइन बातचीत की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस दौरान 4000 शिक्षक कोविड वैक्सीनेशन, रजिस्ट्रेशन, होम आइसोलेशन मैं ड्यूटी दे रहे हैं।