चार साल की बच्ची की मौत: अफसरों पर बरसे फारूक अब्दुल्ला, इस घटना ने घाटी को झकझोर दिया

कश्मीर के बडगाम जिले के ओमपुरा इलाके में चार साल की बच्ची की मौत ने सभी को झकझोर दिया है। गुरुवार को बच्ची को तेंदुए द्वारा मार जाने की घटना पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने शोक जताया है। इसके साथ ही लापरवाही बरतने वाले अफसरों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की उन्होंने मांग की है।

बता दें कि गुरुवार को अपने घर के पिछले हिस्से से चार साल की बच्ची लापता हो गई थी। रात भर खोज के बाद उसका शव वन विभाग की नर्सरी में मिला। इस घटना के बाद गुस्साए लोगों ने जिला प्रशासन और वन्यजीव विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया था। प्रशासन ने लोगों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उधर, वन्यजीव विभाग ने शनिवार को जिले के खान साहिब इलाके में एक तेंदुआ पकड़ा। चिंता की बात ये है कि जिले के वटकालू चरार शरीफ और हुर्रू इलाके में भी तेंदुए देखे गए हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि खान साहिब इलाके के खुड़पुरा में एक तेंदुआ देखे जाने के बाद वन्यजीव विभाग द्वारा अभियान चलाया गया और कुछ देर में उसे जिंदा पकड़ा गया। ज़िले में दो अन्य जगहों पर भी तेंदुए देखे गए हैं जिन्हे पकड़ने के लिए विभाग द्वारा टीमें भेजी गई हैं।

लोगों का कहना है कि ये जंगली जानवर आदमखोर हो चुके हैं। इलाके में भय का माहौल बना रहता है। इसके कारण उन्हें अब रात के समय ही नहीं, बल्कि दिन में भी डर लगता है।

बडगाम में हुई घटना के बाद उपायुक्त और एसएसपी शोक में डूबे परिवार के घर गए और कार्रवाई का आश्वासन दिया।

इससे पहले जिला प्रशासन ने वन्यजीव विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर पर्याप्त संख्या में कर्मचारियों को हथियारों के साथ तैनात करके जंगल में गिरे हुए पेड़ों और झाड़ियों को साफ करने, फेंसिंग को भी ठीक करने के निर्देश दिए हैं।