चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता हत्या मामले को लेकर जनवादी संगठन हुए उग्र

नाहन में पुलिस कॉन्स्टेबल द्वारा चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता को आग लगा कर हत्या के मामले में जनवादी संगठन उग्र हो गए हैं। महिला जनवादी संगठन ने संगड़ाह में पुलिस विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए धरना प्रदर्शन और नारेबाजी की। उधर पुलिस विभाग ने इस मामले में आरोपी पुलिस कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है और उसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
पुलिस कांस्टेबल ने कथित तौर पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया था
जनवादी महिलाओं का यह आक्रोश चाइल्डलाइन कार्यकर्ता विनीता चौहान की हत्या के बाद फूटा है। बच्चों की सुरक्षा और उनके अधिकारों के लिए काम करने वाली चाइल्ड हेल्प लाइन कार्यकर्ता विनीता चौहान को एक पुलिस कांस्टेबल ने कथित तौर पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया था। कई दिनों तक अस्पताल में मौत से जंग लड़ती विनीता पीजीआई में इलाज के दौरान जिंदगी की जंग हार गई। लेकिन विनीता मरने से पहले मजिस्ट्रेट और पुलिस के समक्ष उसके साथ हुई बर्बरता का बयान दे चुकी थी।

सिस्टम के खिलाफ नारेबाजी
हालांकि पुलिस ने मामले के शुरुआती दौर में ही कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी थी। लेकिन विनीता की मौत के बाद दूसरे सामाजिक संगठनों का गुस्सा फूट पड़ा। संगड़ाह में सिस्टम के खिलाफ नारेबाजी करती जनवादी महिलाएं विनीता हत्याकांड मामले में निष्पक्ष न्याय की मांग कर रही है। जनवादी महिलाओं का आक्रोश विनीता जैसी सामाजिक कार्यकर्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने को भी है। हालांकि विनीता की मौत के बाद पुलिस ने इस संबंध में हत्या की धारा जोड़कर आरोपी पुलिस कांस्टेबल को गिरफ्तार भी कर लिया है। एसपी सिरमौर खुशाल शर्मा ने बताया कि मामले की निष्पक्ष जांच हो रही है। दोषी पुलिस कांस्टेबल को हत्या के मामले में गिरफ्तार भी कर लिया गया है।