ग्लेशियर और बर्फ पिघलने से सतलुज नदी का जलस्तर बढ़ा, नाथपा डैम से कभी भी छोड़ा जा सकता है पानी

शिमला: हिमाचल प्रदेश के पहाड़ों में ग्लेशियर और बर्फ पिघलने से सतलुज नदी का जलस्तर बढ़ गया है। एसडीएम रामपुर सुरेद्र मोहन ने बताया कि नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन में पानी का स्तर बढऩे के कारण अत्यधिक मात्रा में पानी सतलुज नदी में छोड़ा जा सकता है। इससे सतलुज नदी में पानी का स्तर बहुत बढ़ जाएगा।

श्री मोहन ने लोगों से नदी के किनारे न जाने की अपील की । लोगों से निवेदन है कि नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन द्वारा समय-समय पर बजाए जाने वाले हूटर को सुनें और चेतावनी संकेतों की अनुपालना करें। उन्होंने आग्रह किया कि सतलुज नदी के तल के आसपास के क्षेत्र में आने-जाने से बचें एवं पैदल चलने के साथ-साथ पशुओं को चराने के लिए भी न लेकर जाएं।