गोशाला संचालक ने जंगल में बांधे 8 गोवंश, 5 की भूख-प्यास से मौत

हमीरपुर:  हिमाचल के हमीरपुर जिले में पशु क्रूरता का एक मामला सामने आया है. जिले के उपमंडल सुजानपुर की ग्राम पंचायत रंगड़ के सनु खुर्द गांव के जंगल में बंधे पांच गोवंश की भूख-प्यास से मौत (Death by Hunger) हो गई है, जबकि तीन पशुओं को स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने बचा लिया है. इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने छानबीन की है. पुलिस ने गोशाला संचालक के खिलाफ पशु क्रूरता (Animal Cruelty) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.

वहीं गोशाला का संचालक फरार हो गया है. दरअसल सनु खुर्द वार्ड नंबर 5 में पंचायत प्रधान को सूचना मिली कि साथ लगते जंगल में किसी ने पशुओं को पेड़ से बांध रखा है. सूचना मिलते ही पंचायत प्रधान अन्य पंचायत प्रतिनिधियों के साथ मौके पर पहुंचे और पेड़ के साथ आठ पशुओं को बंधा पाया. इन पशुओं के गले से रस्सी खोली गई तो पांच की मौत हो चुकी थी जबकि तीन जीवित थे.

पंचायत प्रधान संजीव कुमार ने बताया कि उन्हें ग्रामीणों ने इस मामले की सूचना दी थी. इसकी तुरंत पशुपालन विभाग, पुलिस और उपमंडल अधिकारी नागरिक से शिकायत की गई. पंचायत प्रधान ने बताया कि गांव के त्रिलोक कुमार पर आरोप है कि उसने पशुओं को बांध रखा था. पशुपालन विभाग ने पशुओं का पोस्टमार्टम करवा दिया है. बता दें कि इस गोशाला में धीरे-धीरे पशुओं की संख्या कम हो रही थी.

उधर, पुलिस थाना सुजानपुर के जांच अधिकारी एएसआई मदन लाल शर्मा ने बताया कि पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है. उपमंडल अधिकारी नागरिक शिल्पी बेक्टा ने कहा कि अधिकारियों को मौके पर भेजा है तथा पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी गई है. आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.