कोरोना संकट से निपटने के लिए आधुनिक मोटरबाइक एंबुलेंस सड़कों पर दौड़ती हुई नजर आएंगी

अब कोरोना संकट से निपटने के लिए आधुनिक मोटरबाइक एंबुलेंस सड़कों पर दौड़ती हुई नजर आएंगी। बिलासपुर में मरीजों को अस्पताल पहुंचाने के अलावा कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता अभियान के लिए भी इस बाइक एंबुलेंस का सदुपयोग किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग इस बाइक एंबुलेंस के दस्तावेज इत्यादि उपलब्ध होते ही इसका विधिवत शुभारंभ करवाने के लिए तैयारी में है। जल्द ही बाइक एंबुलेंस सड़कों पर दौड़ते हुए नजर आएगी। खास बात यह है कि अस्पताल की एमर्जेंसी में मरीजों को शिफ्ट करने, मरीजों को अस्पताल पहुंचाने और ऑक्सीजन लगाकर मरीजों को पहुंचाने इत्यादि के अलावा कोरोना की स्थिति से निपटने को लेकर इन्फॉर्मेशन, एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन एक्टिविटीज के लिए यह बाइक एंबुलेंस बहुत काम आएगी।

जानकारी के मुताबिक सरकार ने लगभग दस जिलों को फर्स्ट रिस्पांडर व्हीकल (एफआरवी) उपलब्ध करवाए हैं। कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए सरकार ने यह बाइक एंबुलेंस जिलों को उपलब्ध करवाई हैं। पता चला है कि हीरो मोटर कारपोरेशन लिमिटेड गुड़गांव हरियाणा में यह फर्स्ट रिस्पांडर व्हीकल तैयार किए गए हैं।

इन एंबुलेंस का उपयोग कोरोना नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई गतिविधियों में के लिए किया जाएगा। जनता को जागरूक करने के साथ साथ मरीजों को अस्पताल पहुंचाने और घर पहुंचाने के लिए भी इनका उपयोग किया जाएगा। उधर, इस संदर्भ में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाश चंद दरोच ने बताया कि सरकार की ओर से जिला को एक एंबुलेंस बाइक उपलब्ध कराई गई है। यह आधुनिक बाइक एंबुलेंस कोविड संकट में काम आएगी और आपात स्थिति में समीपवर्ती क्षेत्रों से मरीजों को अस्पताल पहुंचाने और घर पहुंचाने इत्यादि में भी इसका उपयोग किया जाएगा।