कोरोना वायरस के मामले बढ़ते देख सरकार ने सख्ती बरतनी की शुरू

हिमाचल में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते देख सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। हिमाचल में बाहर से आने वाले लोग जो संस्थागत और होम क्वारंटीन किए जा रहे हैं, अगर नियमों के तहत क्वारंटीन अवधि पूरी करेंगे, तो उन्हें ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा। ऐसे लोग क्वारंटीन नियम तोड़ने वालों और बाहर से आने वाले अन्य लोगों को प्रेरित करेंगे। ये लोग बताएंगे कि नियमों के तहत क्वारंटीन रहकर कैसे खुद को, अपने परिवार और आसपास के लोगों को कोरोना संक्रमण से बचा सकते हैं।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से राज्य के सभी उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से बैठक कर निर्देश दिए कि संस्थागत क्वारंटीन लोगों की नियमित चिकित्सा जांच सुनिश्चित बनाने के साथ-साथ क्वारंटीन केंद्रों में पर्याप्त सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएं।मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन देश के अन्य हिस्सों से आने वाले हिमाचलियों के घर पहुंचने से पहले ही पंचायत और निकाय प्रतिनिधियों को उनकी सूचना उपलब्ध करवाए। सीएम ने कहा कि डॉक्टरों की टीम क्वारंटीन केंद्रों का दौरा करे, जिससे वहां लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें।
बुजुर्गों और लंबी बीमारी से पीड़ित मरीजों को सभी आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं दें और जरूरत पड़ने पर उन्हें स्वास्थ्य संस्थानों में स्थानांतरित करें। आवश्यकता पड़ने पर होटलों को भी संस्थागत क्वारंटीन केंद्र बनाया जा सकता है। स्वास्थ्यकर्मी बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों की घर वापसी से पहले ही ऐसे लोगों के घरों का दौरा करें, जिससे उसके परिवार के सदस्यों को शारीरिक दूरी बनाने के महत्व के बारे में जागरूक किया जा सके। मुख्य सचिव अनिल खाची ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि सभी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा।