कोरोना महामारी में नाहन के 40 युवाओं को मिला रोजगार

नाहन: कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को बढावा देने तथा बेरोजगार युवाओं को घर द्वार के समीप रोजगार उपलब्ध करवाने के दृष्टिगत सरकार द्वारा अनेको कल्याणकारी कदम उठाए गए हैं जिसके तहत शहरी क्षेत्रों में लोगों को आर्थिक संबल बनाने के लिए मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारन्टी योजना आरम्भ की गई है।

कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद नाहन अजमेर सिंह ठाकुर ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर के दौरान नाहन शहर में मुख्यमंत्री शहरी रोजगार गारन्टी योजना के तहत मई, 2021 से 40 बेरोजगार युवक, युवतियों को रोजगार उपलब्ध करवाया जा रहा है जिन्हें 300 रुपये प्रतिदिन दिहाड़ी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि इन लोगों से शहर के शिमला रोड पर बिरोजा फैक्ट्री के समीप 1 करोड़ 10 लाख रुपये से प्रस्तावित पार्क स्थल की साफ सफाई, विला राऊंड के सौंदर्यीकरण का कार्य, चम्बा मैदान से मिट्टी हटाने तथा ड्रेनेज की सफाई, गलियों की मुरम्मत तथा शहर के सभी 13 वार्डो की कोरोना संक्रमण से बचाव सम्बन्धी सैनिटाइजेशन का कार्य करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नगर परिषद नाहन द्वारा 10 लोगों को शहर की सैनिटाइजेशन कार्य के लिए नियुक्त किया गया है।

     उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री शहरी रोजगार गारन्टी योजना के तहत नगर परिषद नाहन द्वारा गत वर्ष 300 बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध करवाया जिसमें 40 प्रतिशत महिलाएं तथा 60 प्रतिशत पुरुष थे, जिन्हें 120 दिनों का रोजगार दिया गया जिस पर 80 लाख रूपये की राशि व्यय की गई है।

उन्होंने बताया कि नगर परिषद नाहन द्वारा शहर की सफाई व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त करने के लिए 158 कर्मचारी कार्यरत है जिन्हें प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार इस वर्ष अप्रैल तथा मई माह के दौरान 2000 रुपए प्रति माह अतिरिक्त राशि के हिसाब से कुल 4000 हजार रुपए प्रति सफाई कर्मचारी को उनके बैंक खातों में प्रदान की गई है।उन्होंने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र नाहन को कूडा दान मुक्त कर दिया गया है तथा अब यहां नगर परिषद के 11 वाहनों को सभी 13 वार्ड में घर से ही कूडा एकत्रित करने के कार्य में लगाया गया है जिसमें पांच पिकअप, तीन थ्री व्हीलर तथा तीन टिप्परों का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र में कोविड संक्रमित व्यक्ति जो होम आइसोलेशन में रह रहे है उनकी सुविधा के लिए उनके घर का कूडा कचरा उठाने के लिए एक वाहन अलग से लगाया गया है। उन्होंने बताया कि इन वाहनों से नाहन शहर का साढ़े सात टन कूडा कचरा प्रतिदिन इक्टठा किया जाता है जिसका गौ सदन के समीप कूडा कचरा प्रबन्धन यूनिट में निष्पादन किया जाता है।