कोरोना के नए स्ट्रेन से बचने के लिए वैक्सीन लगवाना करें सुनिश्चित: डॉ परूथी

नाहन 28 अप्रैल – जिला सिरमौर में अब तक 85774 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई है जिसमें 71734 लोगों की पहली खुराक तथा 14040 लोगों की दुसरी खुराक पूर्ण कर दी गई है।

     यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर डॉ0आर0के0परूथी0 ने देते हुए बताया कि कोरोना की दुसरी लहर काफी तेजी से फैल रही है जिससे बचने के लिए लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाना सुनिश्चित करना होगा ताकि इस घातक वायरस से बचा जा सके।

उन्होंने बताया कि जिला सिरमौर के 18 से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को निःशुल्क कोरोना वैक्सीन 1 मई, से लगाई जाएगी जिसके लिए आज से कोविन पोर्टल बवूपदण्हवअण्पद पर पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो गई है। पात्र व्यक्ति अपना पंजीकरण करके टीकाकरण के लिए समय ले सकते हैं। टीकाकरण स्वीकृति पंजीकृत मोबाइल नम्बर पर आएगी तथा निर्धारित समय व तिथि पर पात्र व्यक्ति को पंजीकरण में इस्तेमाल किया गया पहचान पत्र व अपॉइंटमेंट स्लीप साथ ले जानी अनिवार्य होगी तभी वैक्सीन लगाई जाएगी।

डॉ0 परूथी ने बताया कि जिला में अब तक 112518 लोगों के कोविड टैस्ट किए गए जिसमें 6491 व्यक्ति पॉजिटिव पाए जाने के उपरान्त 4960 व्यक्ति ठीक हो चुके है, 1475 सक्रिय मामले व 58 लोगों की कोविड से मृत्यु हुई है। उन्होंने बताया कि गत दिवस जिला में 1002 लोगों के कोविड नमुने लिए गए थे जिसमें 247 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

   उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना मरीजों के लिए डेडिकेटिड कोविड केयर सेन्टर बनाए गए है जिसमें रामपुर घाट में 82 व बडूसाहिब में 100 बिस्तरों की क्षमता है। इसी प्रकार 32 बिस्तरों की क्षमता वाला डेडिकेटिड हेल्थ सेंटर सराहां में स्थापित किया गया है तथा डॉ0वाई0एस0परमार मेडिकल कॉलेज नाहन में 20 बिस्तरों की क्षमता वाला आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। उन्होंने बताया कि 1475 सक्रिय मामलों में 100 मामले बडू साहिब में 19 सराहां और 16 नाहन में दाखिल है तथा 1340 सक्रिय मामले होम आइसोलेशन में है।

     उन्होंने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण का यह स्ट्रेन काफी घातक है इसलिए लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मास्क लगाए, हाथों को बार-बार साबुन से धोए या सैनिटाइज करें, सामाजिक दूरी के नियम का पालन करें तथा सामाजिक कार्यक्रमों में जाने से भी परहेज करें। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया का उल्लंघन करने वाले लोगों पर कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।