केन्द्रीय आलू अनुसन्धान संस्थान में आयोजित होगा 03 दिवसीय आलू चिप्स प्रशिक्षण शिविर 

केन्द्रीय आलू अनुसन्धान संस्थान शिमला के सौजन्य से आज सोलन विकास खण्ड की ग्राम पंचायत चामत भड़ेच में एक दिवसीय कृषि जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। शिविर की अध्यक्षता केन्द्रीय आलू अनुसन्धान संस्थान शिमला के सदस्य देवेन्द्र ठाकुर कूनपुरी ने की। शिविर में ग्राम पंचायत चामत भड़ेच, पौधना, देलगी तथा देवठी के किसानों ने भाग लिया।

देवेन्द्र ठाकुर ने कहा कि शिमला के कुफरी स्थित आलू अनुसन्धान संस्थान में क्षेत्र के किसानों के लिए 03 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। इस शिविर में किसानों को आलू चिप्स बनाने का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इससे क्षेत्र के किसान एवं शिक्षित बेरोजगार युवा अपना व्यवसाय आरम्भ कर आर्थिकी को सुदृढ़ बना सकेंगे।
देवेन्द्र ठाकुर ने कहा कि वे क्षेत्र के किसानों की विभिन्न जायज मांगों को प्रदेश सरकार के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत चामत भड़ेच के धार गांव में 02 माह के भीतर कृषि शिविर आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत चामत भड़ेच में रामपुर सम्पर्क मार्ग तथा देवठी-कून सम्पर्क मार्ग का मामला उचित स्तर से प्रदेश सरकार को प्रेषित किया जाएगा।

शिविर में केन्द्रीय आलू अनुसन्धान संस्थान के फसल पादप रोग विशेषज्ञ डाॅ. रविन्द्र ने आलू की फसल पैदावार बढ़ाने तथा आलू में लगने वाले विभिन्न रोगों एवं इनके उपचार के जानकारी प्रदान की।
संस्थान के फसल उत्पादक प्रमुख डाॅ. वीके दुआ ने किसानों को जल संरक्षण तथा पेयजल की शुद्धता के बारे में जानकारी प्रदान की। संस्थान के सामाजिक विज्ञान प्रमुख डाॅ. एन.के. पाण्डेय ने आलू के चिप्स बनाने के बारे में सारगर्भित जानकारी प्रदान की। शिविर में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग से सम्बद्ध सप्तक कला रंगमंच कण्डाघाट के कलाकारों द्वारा गीत-संगीत तथा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों की जानकारी प्रदान की गई।

ग्राम पंचायत चामत भड़ेच के प्रधान गणेश दत्त शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा क्षेत्र के समस्याओं से अवगत करवाया। इस अवसर पर जिला भाजपा सचिव ज्ञान चन्द कश्यप, ग्राम पंचायत चामत भड़ेच के पूर्व प्रधान इन्द्र दत्त शर्मा, पूर्व उप प्रधान गंगा राम, स्थानीय महिला मण्डल तथा  युवक मण्डल के सदस्यों सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के किसान उपस्थित थे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महिलाएं भी उपस्थित रहीं।