कोई माई का लाल किसानों की जमीन नहीं छीन सकता: राजनाथ सिंह

जयराम सरकार के तीन साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में नई दिल्ली से वर्चुअल जुड़े रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोई माई का लाल किसानों की जमीन नहीं छीन सकता। केंद्रीय कृषि बिलों पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के बाद वह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि किसानों से करार फसल का होगा, जमीन का नहीं। इसके बावजूद किसान उपज को जहां चाहें बेचने को आजाद होंगे। विपक्ष भ्रामक प्रचार कर रहा है।

एमएसपी खत्म करने का इस सरकार का न तो कभी इरादा था, न है और न रहेगा। मंडी व्यवस्था भी कायम रहेगी। शिमला के राज्य अतिथि गृह पीटरहॉफ में राज्यस्तरीय कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पहले छोटा पहाड़ी राज्य होने के चलते हिमाचल प्रदेश को केंद्र से कम धनराशि दी जाती थी। हमने इस सोच को बदला है। हम सभी राज्यों को बराबर देखते हैं। हमने हिमाचल को आकार नहीं, आर्थिक और सामरिक महत्व के हिसाब से बजट दिया।

उन्होंने जयराम सरकार के तीन साल के कार्यकाल को बेहतरीन बताते हुए उन्हें बधाई दी। अपने अध्यक्षीय भाषण में राजनाथ सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र में सुधार का काम पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के समय से शुरू किया गया। पीएम नरेंद्र मोदी इसमें नई ऊर्जा देने का काम कर गए। उन्होंने कहा कि इसी दिशा में कृषि बिल लाए गए, मगर इस बारे में दुष्प्रचार किया जा रहा है। कुछ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी देश का बजट गरीब की झोपड़ी को देखकर तैयार कर रहे हैं।
मैं भी 70 साल का हो रहा हूं, हिमाचल आऊंगा तो मेरी भी पेंशन लगाएं जयराम
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हिमाचल को वीरभूमि की संज्ञा देते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने वन रैंक वन पेंशन की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा किया। उन्होंने हिमाचल सरकार की कई योजनाओं को गिनाया और कहा कि जयराम सरकार ने पिछले तीन साल में बेहतरीन कार्य किए हैं, जिसके लिए वह बधाई के पात्र हैं।

उन्होंने कहा कि जयराम ठाकुर ने 70 साल से ऊपर की उम्र के बुजुर्गों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन लगाकर गजब का काम किया है। उन्होंने चुटकी ली कि वह भी 70 साल के हो रहे हैं, क्या वह हिमाचल प्रदेश आएंगे तो जयराम ठाकुर उनकी भी पेंशन लगाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट न होता तो देवभूमि में इस साल दो करोड़ से अधिक पर्यटक आते।

नड्डा, शांता कोरोना संक्रमण के कारण नहीं जुड़े
केंद्रीय कारपोरेट राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी दिल्ली से और पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने हमीरपुर से संबोधित किया। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का लिखित संदेश प्रदेश महामंत्री त्रिलोक जमवाल ने पढ़ा। वह कोरोना संक्रमित होने के कारण नहीं जुड़ पाए। कोरोना संक्रमण से जूझ रहे पूर्व पीएम शांता कुमार भी कार्यक्रम से नहीं जुड़ पाए।