हिमाचल : कालेजों में फिजिकली कक्षाएं लगाने की तैयारी शुरू, सरकार की मुहर का इंतजार

प्रदेश में संक्रमण दर कम होता देख अब स्कूल, कालेजों में फिजिकली कक्षाएं लगाने की तैयारी शुरू हो गई है। कालेजों में 16 अगस्त से नया सत्र शुरू होते ही ऑफलाइन कक्षाएं भी लगा दी जाएंगी। शिक्षा विभाग ने सरकार से कालेजों में पूरे इंतजाम के साथ अब छात्रों को बुलाने की बात कही है। अगर सरकार अगस्त से कालेजों में छात्रों को बुलाने पर सहमति जता देती है, तो ऐसे में पूरे प्रोटोकोल के साथ सोशल डिस्टेंसिंग में छात्रों की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। उधर, सरकार ने भी ऐलान कर दिया है कि अगर संक्रमण दर कम ही रहती है, तो ऐसे में दसवीं व बारहवीं के छात्रों को भी फिजिकली कक्षाओं के लिए बुलाया जाएगा। सोमवार को शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग से कोविड के मामलों पर अपडेट ली जा रही है, अगर स्वास्थ्य विभाग भी हामी भरता है, तो कोविड प्रोटोकोल के साथ स्कूल, कालेजों के साथ अन्य शिक्षण संस्थानों भी छात्रों को बुलाने पर कोई फैसला लिया जा सकता है।

बता दें कि इससे पहले सरकार फैसला ले चुकी है कि कालेज के यूजी फस्र्ट व सेकेंड ईयर के छात्रों की परीक्षाएं नहीं होंगी। इन्हें दूसरी कक्षा में प्रोमोट किया जाएगा। दरअसल कालेज के छात्र लंबे समय से प्रोमोशन व ऑनलाइन एग्जाम की मांग सरकार से कर रहे थे। छात्रों ने विरोध-प्रदर्शन के माध्यम से भी सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाई थी। छात्रों का कहना था कि उनकी ऑनलाइन पढ़ाई भी सही ढंग से नहीं हो पाई है। खासतौर पर साइंस, कोमर्स, मैथेमेटिक्स के छात्रों ने इस बात को प्रमुखता से रखा था। यही वजह है कि अब सरकार ने इस साल भी फस्र्ट व सेकेंड ईयर के छात्रों को प्रोमोट कर दिया। अब इन छात्रों का नए सत्र में दाखिला होगा। यानी कि 25 व 26 जुलाई से होने वाले दाखिले में अब प्रोमोट हुए छात्र दाखिला लेंगे। बता दें कि अगर कोविड की तीसरी लहर अगस्त या सितंबर में आ जाती है, तो ऐसे में यह शिक्षा पर यह बड़ा ग्रहण बन सकती है।

कैबिनेट में छात्र बुलाने पर फैसला

इसी माह के अंत में कालेज में नए सत्र के लिए दाखिले शुरू हो जाएंगे। इसके साथ ही 16 अगस्त से नए सत्र की कक्षाएं भी शुरू हो जाएंगी। शिक्षा विभाग ने सरकार से कालेजों में छात्रों को बुलाने की अनुमति मांगी है। ऐसे में अब देखना होगा कि आगामी कैबिनेट की बैठक में स्कूल, कालेज के अलावा अन्य शिक्षण संस्थानों में छात्रों को बुलाने पर क्या निर्णय होता है।