कालका-शिमला मार्ग पर ट्रक-बस की टक्कर होने से 18 लोग घायल

शोघी के समीप कालका-शिमला मार्ग पर ट्रक-बस की टक्कर होने से 18 लोग घायल हो गए हैं। यह दुर्घटना शोघी से चार किलोमीटर की दूरी पर खुनुबंगला व रेस्ट हाउस के बीच पेश आई है। यहां पर गाडिय़ों की पासिंग हो रही थी कि इसी बीच कि बस (एचपी-63-5358) जो रंधाव-कोट शोघी से शिमला की तरफ जा रही थी। वहीं शिमला से सोलन की तरफ जा रहे ट्रक (एचपी-63सी-1137) की टक्कर हो गई। बस में सवार कई यात्रियों को गहरी चोटें आई है। इस दुर्घटना में घायल हुए लोगों को 108 एम्बुलेंस द्वारा सीएचसी शोघी लाया गया। यहां पर डा. साक्षी शर्मा, डा. सूरज सिंह, डेंडिटस्ट डा. विकास व अन्य टीम तुरंत घायलों के उपचार में जुट गई। जानकारी के अनुसार इस दुर्घटना में किशोर-बरारी, सीमा-खमाना, अशोक-कोट, चेतराम, पारस-कोट, रीता-रंधाव, अनिता-पवाड़, हरिश-भाड, डीडी कश्यप सलन, देव किरण कोट, विद्या दत्त कनरहेची, संजय-कांगड़ा, सतपाल- भरोग, मदन, सुरेश सैंज, चालक महेंद्र-मोहारी, कंडक्टर संजय व ट्रक चालक सुरेश कुमार ठियोग शामिल थे। इस दुर्घटना में घायलों को दांतों, नाक, मुंह, सिर, छाती, टांग, नाक में गहरी चोटें लगी है।

गंभीर रूप से घायलों को आईजीएमसी रैफर किया गया है। सूचना मिलते ही पुलिस चौकी शोघी के प्रभारी एएसआई देवराज व उनकी टीम मौके पर पहुंची और आगामी कार्रवाई शुरू कर दी। पासिंग के लिए खड़ी गाडिय़ों के कारण जहां जाम लगता है, वहीं अकसर दुर्घटनाएं भी हो रही है। वहीं शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य ने भी पता लगते ही घायलों का हालचाल पूछा व आईजीएमसी व शोघी के अधिकारियों को इलाज के लिए कहा। उधर, पूर्व प्रधान थड़ी आशा, प्रधान नरेंद्र, प्रधान शोघी पार्वती, उपप्रधान इंद्र सिंह ने कहा कि यहां पासिंग के लिए खड़ी गाडिय़ों के कारण अकसर जाम व दुर्घटनाएं हो रही है। उन्होंने प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन से मांग की है कि यहां पासिंग के लिए गाडिय़ां खड़ी न करवाई जाए, गाडिय़ां खड़ी करने के लिए अन्यत्र स्थान देखा जाए, ताकि इस तरह की अनहोनी घटनाओं को रोका जा सके।