कामधेनु संस्था के नाम गोपाल रत्न पुरस्कार, गुजरात में पांच लाख के चेक-प्रशस्ति पत्र से नवाजी बिलासपुर की नामी संस्था

बिलासपुर जिला की दुग्ध क्षेत्र में प्रदेश में अग्रणी संस्था कामधेनु हितकारी मंच नम्होल को भारत सरकार के पशुपालन विभाग की ओर से बेस्ट डेयरी को-आपरेटिव सोसायटी घोषित कर प्रतिष्ठित गोपाल रत्न पुरस्कार से नवाजा गया है। पुरस्कार के रूप में पांच लाख रुपए का चेक और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। यह पुरस्कार शुक्रवार को गुजरात के आनंद जिला में आयोजित राष्ट्रीय स्तर के समारोह में केंद्रीय पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्यपालन मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला के कर कमलों से संस्था के प्रधान नानक चंद को मिला है। 29 नवंबर सोमवार को बिलासपुर के नम्होल पहुंचने पर भव्य समारोह का आयोजन कर संस्था के प्रधान नानक चंद का नागरिक अभिनंदन किया जाएगा। इस समारोह में प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा राजनेता भी शिरकत करेंगे। संस्था के सचिव जीतराम कौंडल ने बताया कि यह बड़े ही सौभाग्य की बात है कि कामधेनु मंच को इस वर्ष दुग्ध दिवस पर गुजरात में आयोजित किए गए राष्ट्रीय स्तर के समारोह में देश के प्रतिष्ठित गोपाल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।