कांग्रेस नेता पार्षदों सहित अंडरग्राउंड, अब 18 जनवरी को लौटेंगे नालागढ़

नगर परिषद नालागढ़ की सरदारी के लिए बहुमत का आंकड़ा जुटाने के बाद कांग्रेस नेता पांचों पार्षदों संग अडंरग्राउंड हो गए हैं। दरअसल, कांग्रेस नेताओं को शक है कि भाजपा नेता पार्षदों के जोड़-तोड़ के लिए कोई दांव खेल सकते हैं, इसी के मद्देनजर सभी पार्षदों को एहतियातन नालागढ़ से बाहर अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है। अब यह सभी पार्षद शपथ ग्रहण के मौके पर 18 जनवरी को ही लौटेंगे। बताया जा रहा है कि गुरुवार को दिन में भी भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के खेमे में शामिल हुए दोनों पार्षदों से संर्पक करने की कोशिश की, लेकिन कांग्रेस नेताओं ने उनकी तमाम कोशिशें नाकाम कर दीं। गुरुवार दोपहर भाजपा के खेमे से शुरू हुई हलचल को भांपते हुए इंटक प्रदेशाध्यक्ष हरदीप बाबा, विधायक लखविंद्र राणा ने तय किया कि पांचों पार्षदों को नालागढ़ से बाहर ले जाया जाए, जिसके बाद पांचों पार्षदों को बुलाया गया और हरदीप बाबा उन्हें लेकर पंजाब में अज्ञात स्थान के लिए रवाना हो गए। कांग्रेस नेताओं ने अंडरग्राउंड होने के लिए पंजाब को बेहतर माना है, क्योंकि वहां कांग्रेस की सरकार है।

ऐसे में सभी पार्षद वहां खींचतान की सियासत से बचे रहेंगे। बता दें कि नालागढ़ में कांग्रेस ने बड़ा उलटफेर करते हुए दो पार्षदों को अपने पाले में कर बहुमत का आंकड़ा जुटा लिया था। यहां कांग्रेस ने भाजपा को उसके ही मोहरे से मात दे दी थी। नौ वार्ड पार्षदों वाली नगर परिषद नालागढ़ में एक आजाद पार्षद के अलावा भाजपा समर्थित पांच पार्षद चुनाव जीतकर आए थे, जबकि कांग्रेस समर्थित तीन ही पार्षद चुनाव में विजयी हुए थे। कांग्रेस ने अल्पमत में होने के बावजूद शहर की सरदारी पर काबिज होने के लिए कोशिशें जारी रखीं। इसी कड़ी में विधायक लखविंद्र राणा, इंटक नेता हरदीप बाबा व अकाली नेता दिलजीत भिंडर ने एकजुटता दिखाते हुए बड़ा दांव खेला और भाजपा के खाते से निर्वाचित पार्षद महेश गौतम और आजाद प्रत्याशी वंदना बंसल को अपने पाले में कर बहुमत का आंकड़ा छू लिया। हरदीप बाबा और लखविंद्र राणा की जगुलबंदी से जहां कांग्रेस ने नालागढ़ परिषद में हारी हुई बाजी को जीत लिया, वहीं बहुमत होने का भ्रम पाले भाजपा को जोरदार झटका दे डाला।

ये हैं कांग्रेस समर्थित पार्षद

कांग्रेस के पास इस वक्त पांच पार्षद है, जिनमें वार्ड तीन से रीना, पांच से अलका वर्मा, सात से अमरेंद्र भिंडर, दो से बंदना बंसल और वार्ड छह से महेश गौतम शामिल हैं। फिलवक्त नगर परिषद की सरदारी पर काबिज होने के लिए बहुमत जुटा चुके कांग्रेस नेता अब कोई गलती नहीं करना चाह रहे। इसी कड़ी में कांग्रेस नेता सभी पांचो पार्षदों संग अंडरग्राउंड हो गए हैं। अब यह सभी पार्षद 18 जनवरी को नालागढ़ लौटेंगे।