कांगड़ा में बादल फटने के बाद लापता पंजाब के सूफी गायक मनमीत सिंह का शव करेरी गांव के साथ लगती खड्ड से बरामद

धर्मशाला:  हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले में अब भारी बारिश के बाद असली तस्वीर सामने आने लगी है. अब पता चला है कि पंजाब (Punjab) के सूफी गायक मनमीत सिंह भी बादल फटने के बाद खड्ड में बह गए थे. उनका शव अब बरामद कर लिया गया है. जानकारी के अनुसार, सूफी गायक मनमीत सिंह (Sain Brothers) की मौत हो गई. उनका शव करेरी लेक (Kareri Lake) के पास खड्ड से मिला है. वह धर्मशाला (Dharmashala Cloud Burst) में सोमवार को बादल फटने के बाद से लापता थे. मंगलवार देर शाम उनका शव करेरी गांव के साथ लगती खड्ड से बरामद किया गया है. मनमीत पंजाब (Punjab) के अमृतसर के छेहर्टा के रहने वाले थे.

जानकारी के मुताबिक, ‘दुनियादारी’ गीत से मशहूर हुए सूफी गायक मनमीत सिंह अपने भाई कर्णपाल उर्फ केपी और दोस्तों के साथ शनिवार को धर्मशाला घूमने आए थे. रविवार को ये सभी धर्मशाला से करेरी लेक घूमने गए थे. रात को तेज बारिश हुई तो वहीं रुक गए. सोमवार को जब लौटने लगे तो एक गड्‌ढे को पार करते समय मनमीत सिंह पानी में बह गए.

मोबाइल सिग्नल नहीं होने के चलते परेशान

करेरी गांव में मोबाइल सिग्नल नहीं होने के चलते परेशान भाई और दोस्तों ने ग्रामीणों की सहायता से मनमीत सिंह को ढूंढने का प्रयास किया. स्थानीय प्रशासन से संपर्क साधा. एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने बताया कि अमृतसर के रहने बाले मनमीत सिंह के करेरी लेक के समीप लापता होने की सूचना मिली थी. इसके बाद रेस्क्यू टीम गठित कर मनमीत सिंह को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था. मंगलवार देर शाम रेस्क्यू टीम को मनमीत सिंह का शव बरामद हो गया है. शव को रेस्क्यू टीम धर्मशाला लाई है. शव का खड्ड से निकालने में सुदर्शन सुकेतिया, सुशील,  शुभकरण, रवि, रमन,  विशाल, मनोज, मिट्ठू, तरसेम और राहुल ने मदद की है.