कांगड़ा में कोरोना: 108 डॉक्टर, 62 नर्से और 7 चपरासी कोरोना से लड़ रहे जंग

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सबसे बड़े जनपद कांगड़ा (Kangra) में कोरोना किस कदर बेलगाम होता जा रहा है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां आए रोज सौ से भी ज़्यादा कोरोना (Corona Virus) केसीज़ सामने आ रहे है. आलम ये है कि सरकार प्रशासन ने कोरोना के लिये स्टैंड बाय में बना रखे कोविड केयर हॉस्पिटल (Hospital) और सेंटर तो बहुत हैं, मगर उनमे केयर करने वालों की दिन प्रतिदिन कमी होती जा रही है, जिसका ठीकरा कई मर्तबा यहां स्वास्थ्य सुविधाओं को संभालने वाले स्वास्थ्य विभाग के ऊपर फोड़ा जाता रहा है.

न्यूज़18 ने अपने स्तर पर इस स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की है, जिसमें जो खुलासा हुआ है, वो वाकई हैरत कर देने वाला है. क्योंकि जिस स्वास्थ्य विभाग के कांधों पर दूसरी बीमारियों से ग्रसित रोगियों को तंदरुस्त करने समेत कोरोना से लड़ने का जिम्मा मिला है, उसने ख़ुद स्वास्थ्य की व्यवस्था की चूले हिला कर रख दी हैं. आलम ये है कि इस वक़्त कांगड़ा के स्वास्थ्य विभाग में जो भी मैन पावर है उसमें एक तिहाई मैन पावर तो ख़ुद कोरोना से लड़ते-लड़ते उसकी चपेट में आ चुकी है.