एससीओ डिजिटल प्रदर्शनी 30 नवंबर से नई दिल्ली में आयोजित की जाएगी

भारत कल शंघाई सहयोग संगठन– एस.सी.ओ. के शासनाध्‍यक्षों की परिषद की बैठक का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए आयोजन करेगा। इस बैठक से पहले संगठन के महासचिव व्‍लादीमीर नोरोव ने बीजिंग में आकाशवाणी के विशेष संवाददाता अंशुमान मिश्रा के साथ एस.सी.ओ. के समक्ष चुनौतियों और इस बैठक से उम्‍मीदों के बारे में विशेष भेंट के दौरान चर्चा की। श्री नोरोव ने कहा कि बैठक में शिष्‍टमंडलों के प्रमुख व्‍यापार, आर्थि‍क और निवेश संबंधी मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं। इसके अलावा कोविड महामारी के प्रकोप को देखते हुए इसके असर को लेकर भी बातचीत होने की संभावना है। उन्‍होंने कहा कि बैठक में एस.सी.ओ. व्‍यापारिक परिषद और अंतर-बैंक एसोसिएशन की गतिविधियों की समीक्षा का भी कार्यक्रम है।

श्री नोरोव ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का विशेष रूप से जिक्र करते हुए कहा कि श्री मोदी ने एससीओ शिखर सम्‍मेलन में पारम्‍परिक औषधियों के बारे में कार्य दल बनाने का प्रस्‍ताव किया था। उन्‍होंने स्‍टार्ट अप्‍स और नवाचार के बारे में भी कार्यदल के गठन का सुझाव दिया था। भारत की अध्‍यक्षता में इस साल पहला एससीओ स्‍टार्ट अप फोरम भी शुरू किया गया।

श्री नोरोव ने यह भी कहा कि पहली एससीओ डिजिटल प्रदर्शनी 30 नवंबर से नई दिल्‍ली में आयोजित की जाएगी जो साझा बौद्ध धरोहर को समर्पित होगी। शासनाध्‍यक्षों की बैठक के साथ हो रही इस डिजिटल प्रदर्शनी से संगठन के सदस्‍य देशों के बीच आपसी संपर्क बढेगा।