एटीएम से पैसा बिना इस नंबर के नहीं निकाल सकेंगे

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एक जनवरी से एटीएम से नगदी आहरण के नियम में बदलाव करने जा रहा है। एटीएम से धनराशि निकालने पर आपको ओटीपी नंबर डालना होगा तभी धनराशि निकल सकेगी।
एटीएम में होने वाले फ्राड को रोकने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने यह कदम उठाया है। यदि आप एसबीआई के डेबिट कार्ड से उनके ही एटीएम से रात आठ से सुबह आठ बजे तक पैसा निकालते हैं तो आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को डालने के बाद ही एटीएम से पैसा निकलेगा।

बैंक यह व्यवस्था दस हजार या उससे अधिक की धनराशि निकालने पर लागू कर रहा है। स्टेट बैंक आफ इंडिया के अधिकारियों के अनुसार एटीएम में जालसाजी की घटनाएं बढ़ रही हैं। घटनाओं का अध्ययन करने पर पता चला कि 65 प्रतिशत फ्राड की घटनाएं रात में ही होती हैं। बता दें कि कुमाऊं में 325 एटीएम हैं और 25 लाख डेबिड कार्ड धारक हैं।
अंक और अंग्रेजी दोनों में आएगा ओटीपी
ओटीपी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के सिस्टम की ओर से जेनरेट किया जाएगा। ओटीपी अंक और अंग्रेजी के अक्षर दोनों में ही आएगा। यह ओटीपी केवल एक लेनदेन के लिए मान्य होगा। एक निश्चित अवधि में ओटीपी एटीएम में न डालने पर स्वत: ही निष्क्रिय हो जाएगा।

ओटीपी के अलावा एटीएम से रुपये की निकासी संबंधी अन्य कोई बदलाव नहीं किए गए हैं। ओटीपी की व्यवस्था फिलहाल उन्हीं एसबीआई के डेबिड कार्ड धारकों पर लागू होगी जो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम का प्रयोग करेंगे। दूसरे बैंक के एटीएम से धनराशि निकालने पर यह नियम लागू नहीं होगा। दूसरे बैंक के कार्ड से अगर एसबीआई के एटीएम से धनराशि निकालेंगे तो यह नियम लागू नहीं होगा।
– राजीव रंजन, डीजीएम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया