हिमाचल: मॉनसून आगमन से पहले ही बारिश कहर बरपाने लगी,

शिमला: हिमाचल प्रदेश में मॉनसून (Monsoon) के आगमन से पहले ही बारिश (Rain) कहर बरपाने लगी है. प्रदेश में बीते दो दिन में कई जिलों में भारी बारिश हुई है. आलम यह है कि इन इलाकों में लोगों को परेशानी से दो-चार होना पड़ रहा है. गुरुवार को चंबा में जहां बादल फटा (Cloud Brust) है, वहीं ऊना में ओले गिरे. कांगड़ा में बैजनाथ में बिजली गिरने से 250-300 भेड़ों की मौत की सूचना है. कुल्लू में बिजली महादेव मंदिर के पास जिया गांव के जंगल में बिजली गिरी और आग लग गई. हालांकि, बाद में बारिश से आग बुझ गई. सूबे में शुक्रवार को भी मौसम (Weather) खराब बना हुआ है. बादल छाए हुए हैं. गुरुवार को कांगड़ा में 103, धर्मशाला में 58, पालमपुर में 14, शाहपुर में 38, जोगिंद्रनगर में 33 मिलीमीटर बारिश हुई.

गुरुवार शाम को चम्बा की लेच पंचायत में बादल फटा. इस वजह से दो नालों का जलस्तर बढ़ गया और मलबा लोगों के घरों में घुस गया. खेतों में मलबा और पानी घुसने से मक्की की फसल बर्बाद हो गई है. गांव के पेयजल के सोर्स मलबे की वजह से प्रभावित हुए हैं और सेब के बगीचों को भी नुकसान हुआ है. हालांकि, जानी नुकसान की कोई खबर नहीं है. ऊना में ओले और बारिश से राहत मिली है, क्योंकि यहां सबसे अधिक गर्मी पड़ रही थी. ऊना में लोग बिजली के अघोषित कटों से भी काफी परेशान हैं.