अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: ठियोग बोयज स्कूल के प्रिंसिपल ने नही किया योग

0
7

ठियोग/ शिमला (खरपुटला हिमांशु शर्मा): ठियोग के बोयज स्कूल में भी योग दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया गया। इस स्कूल के बच्चो ने सुबह 09 बजे से 12 बजे तक योग किया। बता दे कि ठियोग का बोयज स्कूल ऊपरी हिमाचल के प्राचीन स्कूलों में से एक है। ये सीनियर सेकेंडरी स्कूल है।
आज स्कूल में खास बात ये रही कि स्कूल के साथ मिलकर सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल ठियोग के छात्रों ने भी योग किया। सरस्वती विद्या मंदिर ठियोग के प्रिंसिपल अविनाश ने भी छात्रों के साथ योग किया और छात्रों को योग की जानकारी भी दी। साथ ही उन्होंने कुछ आसन भी छात्रों को सिखाये।

प्रिंसिपल ने दिया सिर्फ भाषण
ठियोग बोयज़ स्कूल के प्रिंसिपल संजीव शर्मा ने योग के बारे में छात्रों को भाषण दे कर संबोधित तो किया लेकिन भाषण देने के बाद वे कमरे में आराम फरमाने चले गए। शायद उन्हें धूप में बैठना गवारा न हो या आज उन्हें योग से भी कुछ अधिक जरूरी काम करना था।
आज जहाँ देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, प्रदेश के मुख्यमंत्री तक सभी योग कर रहे थे वहां ठियोग के बोयज़ स्कूल के प्रिंसिपल केवल योग पर भाषण दे कर चल दिये। स्कूल के सभी अद्यापको ने तो योग किया लेकिन प्रिन्सिपल साहब भाषण देकर कमरे में चले गए। शायद सरकार ने उन्हें सिर्फ योग पर बोलने को ही कहाँ था, करने को नही।

छात्रों को हुई परेशानी
बोयज़ स्कूल के छात्रों को योग दिवस पर काफी परेशानी झेलनी पड़ी। छात्रों का कहना है कि हमे न ही इस बारे में पहले जानकारी दी गयी थी के आज स्कूल में योग का कार्यक्रम है। इस कारण सभी भर पेट भोजन करके आये थे और भोजन करके योग करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। साथ ही छात्रों को बैठने व योग के लिए उचित प्रबंध नही था। इसलिये छात्रों को नजदीक बैठ कर योग करना पड़ा और कुछ छात्रों को तो खड़े रहकर ही योग करते छात्रों को देखना पड़ा।
ऐसे में सरकार एक तरफ तो योग का प्रचार कर रही है लेकिन दूसरी तरफ कुछ स्कूल सिर्फ इसकी खाना पूर्ति करते है।