विश्व की सबसे लंबी और आधुनिक सुरंग बनकर तैयार, उद्घाटन तैयारियां जोरो पर

मनाली: हिमाचल प्रदेश में कुल्लू जिले के मनाली स्थित अटल टनल, रोहतांग के उद्घाटन से पहले इसे अंतिम रूप देने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. हिमालय की पीर पंजाल रेंज में 10 हजार फीट से अधिक ऊंचाई पर निर्मित विश्व की सबसे लंबी और आधुनिक सुरंग बनकर तैयार है. जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी के 29 सितंबर को प्रस्तावित दौरे और उद्घाटन से पहले बीआरओ की टीमें दिन रात इसे फाइनल टच देने के लिए लगी हुई हैं.

टनल में हर 60 मीटर पर सीसीटीवी कैमरे
जानकारी के मुताबिक टनल में हर 60 मीटर पर सीसीटीवी कैमरे और टनल के अंदर हर 500 मीटर पर आपातकालीन निकास द्वार बनाया गया है. टनल के अंदर 200 मीटर के अंतराल के बाद फायर हाइड्रेंट की व्यवस्था की गई है. ताकि आग लगने की स्थिति में बचाव किया जा सके. टनल से मनाली और लेह के बीच की दूरी 46 किलोमीटर कम हो जाएगी और 4 घंटे की बचत हो सकती है

टनल में एक बार में 3000 कारें या 1500 ट्रक एक साथ निकल सकते हैं. 4 हजार करोड़ रुपये की लागत बनी टनल के अंदर अत्याधुनिक ऑस्ट्रेलियन टनलिंग मेथड का उपयोग किया गया है. वेंटिलेशन सिस्टम भी ऑस्ट्रेलियाई तकनीक पर आधारित है.

मुख्य अभियंता, केपी पुरुषोत्तमन ने बताया कि मनाली को लेह से जोड़ने वाली अटल टनल, दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग टनल है, जो 10,000 फीट से ऊपर है. इस सुरंग को पूरा करने की अनुमानित अवधि 6 साल से कम थी लेकिन इसे 10 साल में पूरा किया गया. बताया जा रहा है कि पीएम मोदी विशेष वाहन से नौ किलोमीटर लंबी अटल टनल रोहतांग को अंदर से निहारेंगे. वह कुल्लवी और सुरंग पार करते ही लाहुली संस्कृति से रूबरू होंगे.

टनल में एक बार में 3000 कारें या 1500 ट्रक एक साथ निकल सकते हैं. 4 हजार करोड़ रुपये की लागत बनी टनल के अंदर अत्याधुनिक ऑस्ट्रेलियन टनलिंग मेथड का उपयोग किया गया है. वेंटिलेशन सिस्टम भी ऑस्ट्रेलियाई तकनीक पर आधारित है.