सुशांत सिंह राजपूत के बॉडीगार्ड का खुलासा: रिया करती थीं छत पर अक्सर पार्टियां

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में नामजद अभियुक्त बनाई गईं रिया चक्रवर्ती ने शुक्रवार शाम अपने बचाव में एक वीडियो जारी कर अपने ही पैरों पर कुल्हाड़ी मार ली है। रिया इस मामले में जितना बिहार पुलिस से बचने की कोशिश करती नजर आ रही हैं, वहीं बिहार पुलिस सबूतों के सहारे उनके खिलाफ अपना केस मजबूत कर रही है। सूत्रों की मानें तो इस मामले में पुलिस जल्द ही रिया को गिरफ्तार कर सकती है, उसे बस बिहार की एक अदालत से गिरफ्तारी वारंट का इंतजार है।

रविवार को पटना के राजीव नगर थाने में सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती व अन्य के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में उन्होंने रिया व अन्य लोगों पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। इधर बिहार पुलिस को मुंबई में स्थानीय पुलिस की खास मदद नहीं मिली है। पुलिस के सूत्रों का कहना है उनकी जांच अब तक सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री में बाहरी बनाम भीतरी विवाद पर ही केंद्रित रही है। मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में आत्महत्या के कुछ चर्चित मामले पहले भी हुए हैं लेकिन कभी किसी को आत्महत्या के लिए उकसाने या मजबूर करने के मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। रिया लगातार बिहार पुलिस से बचने की कोशिश कर रही हैं और वीडियो जारी कर वह यही जताना चाह रही हैं कि वह भूमिगत नहीं हैं

सुशांत के बॉडीगार्ड ने भी कई खुलासे किए

शांत सिंह राजपूत केस में तमाम बातें सामने आ रही हैं। इस पूरे मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर कई आरोप लग रहे हैं। सुशांत के पिता द्वारा दर्ज कराई एफआईआर के बाद रिया फंसती नजर आ रही हैं। इस बीच सुशांत के बॉडीगार्ड ने भी कई खुलासे किए हैं।

एक चैनल से बातचीत में बॉडीगार्ड ने कहा कि ‘सुशांत सिंह राजपूत के घर अक्सर पार्टियां होती थीं। जिनमें वो शामिल नहीं होते थे। घर के बहुत सारे फिजूलखर्चे थे। जिनसे सुशांत का कोई वास्ता नहीं था। वो अक्सर बीमार रहते थे। वो अपने कमरे में सोते रहते थे जबकि उनके घर की छत पर पार्टियां चलती थीं। पार्टियों में रिया चक्रवर्ती, उनके पिता, उनकी मां, भाई और दोस्त होते थे।’

बॉडीगार्ड ने रिया चक्रवर्ती पर लगे आरोपों पर कहा कि ‘मामले की जांच होनी चाहिए और सुशांत सिंह राजपूत को न्याय मिलना चाहिए। रिया से मिलने के बाद सुशांत के व्यवहार में काफी बदलाव आया था। उनके जितने स्टाफ थे सबको बदल दिया गया था। केवल मैं ही अकेला पुराना स्टाफ था जो बचा था।’  बॉडीगार्ड ने कहा कि ‘सुशांत के घर पर केवल रिया चक्रवर्ती के परिवार वालों का ही आना जाना होता था। सुशांत के घरवाले कभी नहीं आते थे। पैसे का हिसाब किताब रिया चक्रवर्ती ही करती थीं। ऐसे में घर के जितने भी खर्चे होते थे सब सुशांत के पैसे पर ही होते थे। सुशांत के अपने खर्चे बहुत कम थे लेकिन अगर 15 करोड़ एक साल में खर्च हो गए तो उसकी जांच होनी चाहिए।’

सुशांत को दवा के ओवरडोज देने के सवाल पर बॉडीगार्ड ने कहा कि ‘हम लोग जब भी उनसे मिलना चाहते थे तो हमें बताया जाता था कि सर सो रहे हैं। पहले तो सब ठीक था लेकिन यूरोप टूर के बाद से उनकी तबीयत खराब होनी शुरू हुई। उसके बाद से वो अक्सर बीमार रहने लगे थे।’