सिरमौर : सराहा में शुरू हुई कैंटीन सुविधा, सीआरपीएफ डीआईजी  सुनील कुमार ने किया शुभारंभ

सराहा में भूतपूर्व अर्धसैनिक बल संगठन की विशेष बैठक सराहां में संपन्न हुई। इस मौके पर भूतपूर्व अर्ध सैनिक बल  के पेंशनरों के लिए  कैंटीन सुविधा भी शुरू की गई। इस कैंटीन सुविधा का शुभारंभ सीआरपीएफ के डीआईजी  सुनील कुमार ने की।पेंशनरों के लिए शुरू की गई इस कैंटीन  सुविधा की मांग वर्षो से भूतपूर्व अर्धसैनिक बल की सराहां इकाई द्वारा लगातार मांग रखी जा रही थी जिसके बाद  अर्ध सैनिक बल के प्रयासों को आखिरकार आज विराम मिल ही गया।सीआरपीएफ के डीआईजी सुनील कुमार ने कहा कि पेंशनरों तक पहुंचने के लिए कैंटीन तो एक बहाना था असल में अर्ध सैनिक बल के पेंशनरों को कोई समस्या टेंशन में कोई समस्या व भूतपूर्व सैनिकों के परिवार या बच्चों को नौकरी जैसी सुविधा इत्यादि लोगों को लेकर  उनकी समस्या को जानना था ।

उन्होंने कहा कि सरकार व  विभाग के द्वारा भूतपूर्व सैनिक बलों के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है।जिसको भूतपूर्व सैनिकों तक पहुंचाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा इस कैंटीन सुविधा का लाभ हिमाचल प्रदेश पुलिस के जवान भी ले पाएंगे। बैठक की अध्यक्षता करते हुए संघटन के प्रधान देवदत्त ने कहा कि कुछ दिन पहले भूतपूर्व अर्ध सैनिक बल संगठन सराहां का एक प्रतिनिधिमंडल अपनी मोबाइल कैंटीन की समस्या को लेकर डीआईजी सीआरपीएफ पिंजोर से मिला था।मिलने पर अर्ध सैनिक बल ने अपनी समस्याओं को उनके समक्ष रखा था।जिसके बाद सीआरपीएफ के डीआईजी ने तुरंत आश्वासन दिया था कि 14 अक्टूबर से सराहां में भूतपूर्व अर्धसैनिक बल के पेंशनरों के लिए सेवाएं जारी कर दी जायेगी।जिससे मुख्य रूप से सराहां में अर्ध सैनिक बल के भूतपूर्व जवानों को कै में ईश्वर दत्त शर्मा,सुलक्षण गौतम,रवि दत्त शर्मा,कृष्ण दत्त, जगदीश भारद्वाज, माता राम व प्रितपाल सिंह समेत कई लोग मौजूद थे।