रिंगिंग बेल्स कंपनी मामला: फरार आरोपी लुधियाना से गिरफ्तार

वर्ष 2017 में बहुचर्चित रिंगिंग बेल्स कंपनी के नाम पर 251 रुपये में स्मार्टफोन दिलाने का झांसा देकर दुकानदार से लाखों की ठगी करने के मामले में फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने लुधियाना से गिरफ्तार कर लिया। वह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।
सिविल लाइंस कोतवाली में शनिवार को प्रेसवार्ता कर सीओ चंदन सिंह बिष्ट ने बताया कि 20 मई 2017 को अशोक कुमार निवासी भुटानी मैसर्स हार्दिक टेलीकॉम 11 सिविल लाइंस, रुड़की ने तहरीर दी थी। उन्होंने बताया था कि रिंगिंग बेल्स प्राइवेट लिमिटेड इंदिरापुरम, गाजियाबाद के प्रबंधक निदेशक मोहित गोयल, जरनल मैनेजर अनमोल गोयल निवासी मोह शक्ति, थाना नागल जिला शामली ने अपनी कंपनी का स्मार्टफोन देने का वादा किया था।
बताया था कि यह फोन प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया का हिस्सा है। कुछ दस्तावेज भी दिखाए गए थे। बताया था कि प्रवीण गोयल को सुपर स्टॉकिस्ट बनाया गया है। मोबाइल के ऑर्डर देते समय उन्होंने एडवांस में 3,21,900 रुपये दिए थे। इसके बाद 67 और 16 हजार रुपये और दिए।आरोप था कि उन्हें दूसरी कंपनी के मोबाइल भेजे गए। सीओ ने बताया कि तहरीर के आधर पर मोहित गोयल, धारा गोयल निवासी मोहशक्ति नागल शामली, अनमोल गोयल, प्रवीण गोयल और समीर बजाज के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। मामले में समीर बजाज फरार चल रहा था।