रैगिंग मामला : शराब पीकर आए दो छात्रों ने जूनियर को पीटा, मामला दर्ज

शिमला: हिमाचल के राजधानी शिमला के इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (IGMC) के बॉयज हॉस्टल में कथित तौर पर रैगिंग का मामला सामने आया है. दो सीनियर पर जूनियर छात्र की रैगिंग करने का आरोप लगा है. फिलहाल, मामले में केस दर्ज कर लिया गया है.

जानकारी के अनुसार, सोमवार रात को दो सीनियर, जोकि इंटर्न बताए जा रहे हैं, उन्होंने MBBS के थर्ड इयर के छात्र की पिटाई कर दी. आरोप है कि दोनों शराब के नशे में धुत थे. हॉस्टल के गेट पर जमकर हंगामा हुआ और इस दौरान दोनों सीनियर्स ने जूनियर की पिटाई कर दी. पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई.

पुलिस ने किया मामला दर्ज
जूनियर छात्र तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस मौके पर पहुंच गई. जूनियर ने लक्कड़ बाजार चौकी में शिकायत दी है. इस बाबत एसपी मोहित चावला ने कहा कि पुलिस ने थर्ड इयर के स्टूडेंट की शिकायत पर दो सीनियर्स के खिलाफ IPC की धारा 323, 334 और रैगिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. मामले की छानबीन की जा रही है. वहीं दूसरी ओर, आईजीएमसी के प्रिंसिपल डॉ.रजनीश पठानिया ने शिकायत मिलने की पुष्टि की. उन्होंने कहा कि 4 बजे एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक होगी, कमेटी अपने स्तर पर छानबीन कर फैसला लेगी कि आरोपों में कितनी सच्चाई है.

पीड़ित छात्र के मुताबिक, वो सोमवार देर रात करीब 11 साढ़े 11 बजे के करीब भावा हॉस्टल से अपने हॉस्टल, रमन होस्टल की तरफ आ रहा था. एग्जाम की तैयारियों को लेकर भावा हॉस्टल में बैचमेट्स के साथ था. जब वो गेट पर पहुंचा तो देखा कि हंगामा चल रहा था, दोनों सीनियर्स शराब पीकर थे और बहसबाजी चल रही थी. उनको रोकने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन इसी बीच दोनों ने पहले गालियां दी और फिर पिटाई कर दी, उसके बाद पीड़ित ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस के आने पर दोनों वहां से भाग गए. पीड़ित ने ये भी बताया कि तीन सालों से रैंगिग की जा रही है. सीनियर्स रातभर जगाते हैं, उनसे फाइलें बनवाते हैं और कई बार प्रॉक्सी लगवाते हैं. इस बार सीनियर्स ने जब हाथ उठाया तो पुलिस और IGMC प्रशासन को सूचना दे दी.