पॉलीहाउस घोटाला : कांगड़ा में तीन लोगों को किया गिरफ्तार

जिला कांगड़ा केंद्रीय को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड गगरेट, पंजावर व गोंदपुर बनेहड़ा की शाखाओं में पॉलीहाउस लोन घोटाले में विजिलेंस ने दूसरा केस दर्ज करके तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। एएसपी विजिलेंस सागर चंद्र ने बताया कि मार्च, 2020 में केसीसी बैंक द्वारा इन घोटालों की जांच के लिए विजिलेंस को एक शिकायत पत्र सौंपा गया था। इस पर जांच शुरू करते हुए विजिलेंस ने बैंक शाखा गगरेट द्वारा जारी फर्जी लोन में 26 सितंबर को एफआईआर दर्ज करके सोमवार को तीन गिरफ्तारियां की हैं। 16 मार्च, 2015 को केसीसी की शाखा गगरेट से पॉलीहाउस का 15 लाख का लोन फर्जी तरीके से कुठेड़ा जसवालां निवासी एक व्यक्ति के नाम जारी किया गया था।
उसी दिन इस लोन का 11 लाख 26 हजार रुपए मैनेजर व एक अन्य व्यक्ति की मिलीभगत से प्रताप नगर निवासी के खाते में डाल कर निकाल लिया गया। इसके बाद 31 मार्च, 2015 को बचा हुआ 374000 रुपए भी कुठेड़ा जसवालां निवासी के खाते में डाल कर गवन कर लिया गया। कुठेड़ा जसवाला के व्यक्ति को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई और न ही पॉलीहाउस बनाया। उसके नाम का 15 लाख का लोन गबन कर दिया गया।
इस तरह करीब 23 लाख रुपया उसके नाम से खड़ा है। एक व्यक्ति व मैनेजर ने उस व्यक्ति के नाम से एक और लोन पांच लाख का केसीसी बैंक की शाखा गोंदपुर में फर्जी तरीके से शटरिंग खरीदने के नाम पर जारी करके गबन कर दिया। इसके बारे में भी उसे बाद में पता चला, जब उसे बैंक से नोटिस आने लगे। सबसिडी का लालच देकर उस व्यक्ति व मैनेजर ने उससे लोन के सभी कागजातों पर हस्ताक्षर करवा लिए, लेकिन सबसिडी के तहत लोन की प्रक्रिया पूरी न करके साधारण वर्ग में लोन जारी करके गबन कर दिर्या। इन दोनों व्यक्तियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों आरोपियों को मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा।
इसे भी पढ़ें: दुकानदार व सफाई कर्मी के बीच कूड़े को लेकर विवाद, खूनी संघर्ष में 6 घायल