एलओसी पर पाकिस्तान की नापाक हरकत, तीन जवान शहीद

फाइल फोटो
जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से गुरुवार को नापाक हरकत को अंजाम दिया। दो अलग-अलग सीजफायर उल्लंघन की घटनाओं में भारत के तीन जवान शहीद हो गए, जबकि पांच अन्य सैनिक घायल हुए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार नौगाम सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों ने बिना किसी उकसावे के सीजफायर का उल्लंघन किया। इसमें दो जवान शहीद हुए और चार घायल हो गए। इससे कुछ समय पहले, पाकिस्तान ने पुंछ जिला में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम इलाकों में भारी गोलीबारी करके और मोर्टार के गोले दागकर संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन किया था, जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया और एक अन्य घायल हो गया।
मनकोट एवं कृष्णा घाटी सेक्टरों में नियंत्रण रेखा के पास छोटे हथियारों से गोलीबारी
पुंछ जिला में सीजफायर उल्लंघन की जानकारी देते हुए एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तान की सेना ने मनकोट एवं कृष्णा घाटी सेक्टरों में नियंत्रण रेखा के पास छोटे हथियारों से गोलीबारी कर और मोर्टार के गोले दागकर बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन किया। उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया। प्रवक्ता ने बताया कि सीमा पार से गोलीबारी में लांस नायक करनैल सिंह शहीद हो गए। आर्मी के सूत्रों का कहना है कि जवान पाकिस्तान की इस कार्रवाई का जवाब दे रहे हैं। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान आर्मी को कितना नुकसान हुआ है। उधर, पिछले आठ महीनों में पाकिस्तान ने एलओसी पर 3000 से ज्यादा बार सीजफायर वॉयलेशन किया है। यह पिछले 17 सालों में सबसे ज्यादा है। सितंबर में पाकिस्तान 47 बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है। दोनों देशों के बीच 2003 संघर्ष विराम का समझौता हुआ था।