शहीद 29 वर्षीय मेजर नीरज शर्मा पूरे राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन

भद्रकाली के बाणदू क्षेत्र के सपूत 29 वर्षीय मेजर नीरज शर्मा रविवार को पूरे सैनिक एवम राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हो गए। मेजर नीरज शर्मा की बीकानेर में सड़क दुर्घटना के दौरान मौत हो गई थी। उनका पार्थिव शरीर रविवार सुबह घर पहुंचा और दोपहर तक उनका अंतिम संस्कार किया गया। गांववासियों ने मेजर नीरज अमर रहे के नारे लगाकर माहौल देश भक्ति और भावुकता से भर दिया। उनके बड़े भाई रोहित शर्मा ने अपने छोटे भाई के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी।

इस अवसर पर एसडीएम गगरेट विनय मोदी के इलावा सेवानिवृत्त मेजर जनरल डडवाल,सुशील कालिया सहित कई लोग उपस्थित रहे। बड़े भाई रोहित शर्मा ने बताया कि नीरज शर्मा परिवार बहुत ही लाडले थे और विश्वास ही नहीं होता कि इतनी छोटी उम्र में हमे छोड़ कर चले गए हैं। फिर भी पूरे परिवार को गर्व है कि देश सेवा करते हुए उन्होंने प्राण त्यागे। भद्रकाली ने एक बेटा तो पूरे देश ने एक जाबांज अवसर खो दिया है, लेकिन उनके नेतृत्व क्षमता हमेशा युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेगी।