मंडी : कांग्रेस किसान संवाद रैली में हंगामा

जिला मंडी में आयोजित कांग्रेस की किसान संवाद रैली में हंगामा और शक्ति-प्रदर्शन का देखने को मिला। किसानों के हितों के लिए रखी गई रैली में कांग्रेस नेता अपनी ही गुटबाजी करते रहे और हल्ले-हंगामे के बीच छोटे से मंच पर जगह पाने के लिए धक्के देने तक की नौबत बन गई। पूर्व मंत्री व कांग्रेस जिला अध्यक्ष प्रकाश चौधरी को मंच से बोलने तक का मौका नहीं दिया गया, वहीं पार्टी प्रभारी राजीव शुक्ला के हेलिपैड पर पहुंचने से लेकर कांग्रेस संवाद सम्मेलन कार्यक्रम में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू और उनके समर्थक छाए रहे। प्रदेश का नेता कैसा हो सुखविंदर सिंह सुक्खू जैसा हो, के नारे जब नहीं रुके और कार्यकर्ता शांत नहीं हुए, तो प्रभारी राजीव शुक्ला ने माइक पकड़ कर सबको चेताते हुए कहा कि जो जितना शोर करेगा, उसे मैं पहचानूंगा कि कौन-कौन हो-हल्ला कर रहा है।
उन्होंने कहा कि मैंने सबके नारे सुन लिए, देख लिया कि कौन कितने लोग अपने साथ लाया है। मैंने सब देख लिया है व समझ लिया है। इसके बाद कार्यकर्ता शांत हुए, लेकिन काफी देर तक सुक्खू के समर्थन में नारे लगते रहे। इससे पहले कांगणी हेलिपैड पर पहुंचे कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला का स्वागत करने के लिए भी कांग्रेस नेताओं के बीच कंपीटीशन होता रहा। यहां भी सुखविंदर सुक्खू के समर्थकों ने खूब नारेबाजी की और उन्होंने अलग से प्रदेश कांग्रेस प्रभारी का स्वागत किया।
इसके बाद जब प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अन्य नेताओं के साथ बिपाशा सदन पहुंच गए, तो सुक्खू समर्थकों की अगवाई करते हुए पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा व संजीव गुलेरिया के साथ बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ सुखविंदर सुक्खू मंच पर पहुंचे। इसी बीच सड़क से लेकर मंच तक नारेबाजी के साथ ही हंगामा हो गया, वहीं कार्यक्रम का मंच भी काफी छोटा रखा गया था, ताकि कम लोगों को जगह मिल सके। इससे कई नेताओं व पदाधिकारियों को बिना कुर्सी के मंच के इधर-उधर बैठना पड़ा। मंच पर कोरोना का खौफ भी नहीं दिखा और सोशल डिस्टेंसिंग की परवाह नहीं की गई।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार ने बड़े पूंजीपतियों के हाथों किसानों को बेच दिया है। अदानी को फायदा पहुंचाने के लिए हिमाचल के सेब की कीमतों में गिरावट लाई गई। पहले जो पेटी तीन हजार में बिक रही थी, वह अदानी के सक्रिय होते ही 12 सौ रुपए में बिकी है। श्री राठौर कांग्रेस किसान संवाद सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
रोहतांग टनल कांग्रेस की देन
नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि रोहतांग टनल कांग्रेस की देन है और भाजपा ने सिर्फ इसे अपना नाम दिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इसका श्रेय लेना छोड़ कर पहले अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बल्ह में हवाई अड्डा बना कर दिखाएं, तो कांग्रेस उनकी मानेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा कि अटल टनल रोहतांग की शिलान्यास पट्टिका कहां गई है। सत्ता में आने पर मोदी की पट्टिका के सामने सोनिया गांधी की शिलान्यास वाली पट्टिका भी कांग्रेस लगाकर दिखाएगी।