खत मेरा नहीं पर स्वास्थ्य से जुड़ी बातें बिल्कुल सही: रजनीकांत

चेन्नई: दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत (Superstar Rajinikanth) की राजनीति में औपचारिक एंट्री को लेकर लगाए जा रहे कयासों के बीच तमिल सुपरस्टार की एक चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. ट्विटर #Rajinikanth ट्रेंड करने लगा और प्रेस विज्ञप्ति की शैली में लिखी हुई चिट्ठी शेयर की जाने लगी. हालांकि इसे लेकर शुरू हुई चर्चा के बाद रजनीकांत ने यह साफ कर दिया कि चिट्ठी में लिखी गई बातें सही हैं लेकिन ये चिट्ठी उन्होंने नहीं लिखी है.

अभिनेता ने कहा, ‘‘हर कोई जानता है कि यह मेरा बयान नहीं था. हालांकि मेरे स्वास्थ्य की स्थिति और डॉक्टरों द्वारा मुझे दी गयी सलाह के बारे में सूचना सही थी.’’ रजनीकांत ने कहा कि वह अपने संगठन ‘मंदरम’ के पदाधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर उपयुक्त समय पर घोषणा करेंगे कि वह राजनीति में प्रवेश करेंगे या नहीं.

चिट्ठी के मुताबिक रजनीकांत के राजनीति में प्रवेश को कोरोना वायरस (Corona virus) की वजह से गहरा झटका लगा है. चिट्ठी के अनुसार, वैक्सीन (Vaccine) आने के बाद भी कॉन्वालैसिंग किडनी ट्रांसप्लांट के मरीज रजनीकांत की बाहरी गतिविधियों पर पाबंदी रह सकती है. यह फैसला उनकी कमजोर इम्युनिटी को लेकर किया जा सकता है. चिट्ठी के मुताबिक, डॉक्टर्स ने भी उन्हें ज्यादा से ज्यादा सावधानियां रखने के लिए कहा है. इसके अलावा उन्होंने चिट्ठी में फैंस का भी जिक्र किया है. उन्होंने लिखा, ‘मैं अपने आसपास मौजूद लोगों से ज्यादा खुद को लेकर चिंतित नहीं हूं.’

चिट्ठी में ये भी कहा गया था कि उन्होंने किडनी से संबंधित दिक्कतों के समाधान के लिए 2011 में सिंगापुर के एक अस्पताल में उपचार कराया था और बाद में मई 2016 में अमेरिका के एक अस्पताल में किडनी प्रत्यारोपण कराया.

जहां तक पत्र का सवाल है रजनीकांत ने अपने प्रशंसकों को यह बताने की कोशिश की कि यदि वो औपचारिक रूप से राजनीति में प्रवेश करते हैं और कोरोनो वायरस के कारण बीमार पड़ते हैं, तो वो उनका सामना करेंगे.