तेंदुए ने डेढ़ साल के मासूम को उठाया, लोगों ने छुड़ाया चंगुल से, अस्पताल में मौत

नेरवा (रोहडू़): जिला शिमला के नेरवा में रात को बिजली गुल होने पर घर के बरामदे में निकले डेढ़ साल के मासूम को तेंदुआ (leopard) उठाकर ले गया। घटना नेरवा तहसील की ग्राम पंचायत रुस्लाह के शेइला गांव में शनिवार रात की है। जानकारी के अनुसार शेइला गांव में मजदूरी करने वाले नेपाली दिनेश बहादुर अपने चार बच्चों के साथ शनिवार को शाम के समय कमरे में बैठे थे। उनकी पत्नी रसोई में खाना बना रही थीं। इस बीच बिजली चली गई और सबसे छोटा बच्चा बरामदे में निकल गया। बच्चे के बाहर निकलते ही खेत में घात लगाकर बैठे तेंदुए ने हमला कर दिया। बच्चे के परिजनों के शोर मचाने पर गांव के लोग घटनास्थल पर जुट गए। लोगों ने जैसे-तैसे बच्चे को तेंदुए के चंगुल से छुड़ाया।
तेंदुए के हमले से घायल बच्चे को परिजन नेरवा अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। उल्लेखनीय है कि क्षेत्र में कई बार मादा तेंदुआ को दो शावकों के साथ देखा गया है।
वन विभाग द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं
मटलाना निवासी देवराज शर्मा दो माह में दो बार सीएम हेल्पलाइन में सूचना दे चुके हैं लेकिन वन विभाग द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। बच्चे पर हमलावर होने के बाद तेंदुए के आदमखोर होने की आशंका बढ़ गई है। क्षेत्रवासियों में इसकी दहशत है। क्षेत्रवासियों ने विभाग से मांग की है कि तेंदुए को पकड़कर किसी वन्य प्राणी अभ्यारण्य में सुरक्षित छोड़ा जाए।