कोविड-19 से स्‍वस्‍थ होने की दर बढकर 91 दशमलव पांच-चार प्रतिशत पर पहुंची

भारत में कोविड महामारी के सक्रिय मामलों में लगातार गिरावट का रूझान दिख रहा है। सक्रिय मामलों के छह लाख से कम होने के तीन दिन बाद गिरावट का सिलसिला जारी है। इस समय देश में कोविड-19 के सक्रिय रोगियों की कुल संख्‍या पांच लाख 70 हजार 458 है। इलाज करा रहे रोगियों की संख्‍या घटकर कुल संक्रमित रोगियों की संख्‍या के छह दशमलव नौ-सात प्रतिशत के बराबर रह गई है जिससे नये मामलों में गिरावट का पता चलता है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि इस उपलब्धि का कारण केन्‍द्र सरकार की विस्‍तृत जांच, समय पर निगरानी, तत्‍काल अस्‍पताल में भर्ती कराने और उपचार संबंधी नियमों का कडाई से पालन करने की नीति है। इससे रोगियों की चिकित्‍सा संबंधी देखभाल सही तरीके से हुई है और उन्‍हें इलाज के लिए सरकारी और निजी अस्‍पतालों तथा आइसोलेशन में भेजा गया है।
देश के विभिन्‍न राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में सक्रिय रोगियों की संख्‍या अलग-अलग रही है जिससे रोकथाम के उनके प्रयासों और कोविड-19 से निपटने की स्थिति का पता चलता है। पिछले 24 घंटों में कर्नाटक में सक्रिय मामलों की संख्‍या में तेज गिरावट दर्ज की गई है। अन्‍य राज्‍यों में भी कोविड रोगियों की संख्‍या में कमी आई है और भारत, प्रति दस लाख आबादी पर सबसे कम मामलों वाले देशों में शामिल है। भारत में प्रति दस लाख आबादी पर सक्रिय मामलों की औसल संख्‍या पांच हजार 930 है और 17 राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में यह राष्‍ट्रीय औसत से भी कम है।

भारत में महामारी की वजह से मौत की दर में भी निरन्‍तर गिरावट दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटों में देशभर में 470 रोगी मौत का शिकार हुए हैं। भारत में प्रति दस लाख आबादी पर मौतों की संख्‍या दुनिया में सबसे कम यानी, 88 रही है। 21 राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में दस लाख जनसंख्‍या पर मृत्‍यु दर राष्‍ट्रीय औसत से कम दर्ज की गई है जिससे स्‍वस्‍थ होने की दर में बढोतरी की पुष्टि होती है। देश में अब तक 74 लाख 91 हजार 513 लोग महामारी से स्‍वस्‍थ हुए हैं। ठीक हुए मामलों और सक्रिय मामलों का कुल अन्‍तर 69 लाख इस समय 69 लाख 21 हजार 55 पर है।

ठीक होने वालों की उच्‍चतर दर से, स्‍वस्‍थ होने की राष्‍ट्रीय दर में और सुधार हुआ है और यह 91 दशमलव पांच-चार प्रतिशत हो गई है। पिछले 24 घंटों में 58 हजार 684 लोगों को उपचार के बाद अस्‍पतालों से छुट्टी मिली है। जबकि संक्रमण की पुष्टि वाले रोगियों की कुल संख्‍या 46 हजार 963 दर्ज की गई है। ठीक होने के मामलों में से 76 प्रतिशत दस राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में केन्द्रित रहे हैं।
कर्नाटक, केरल और महाराष्‍ट्र में स्‍वस्‍थ होने वालों की संख्‍या सबसे अधिक है। इन राज्‍यों में रोजाना सात हजार से अधिक लोग स्‍वस्‍थ हुए हैं। ठीक होने के नये मामलों में दिल्‍ली और पश्चिम बंगाल का योगदान चार हजार से अधिक रहा है।
केरल में नये मामलों की संख्‍या सबसे अधिक सात हजार दर्ज की गई है। इसके बाद महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली का स्‍थान है जहां रोजाना पांच हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं।