जम्मू कश्मीर: बारामुला मुठभेड़ में मारे गए तीनों आतंकी

जम्मू कश्मीर के बारामुला में शुक्रवार को मुठभेड़ में तीन आतंकी मार गिराए गए। मारे गए आतंकियों ने मासूम समेत दो परिवार के 12 लोगों को बंधक बना लिया था। इन्हें मुक्त कराकर सुरक्षा बलों ने सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। इसके बाद ऑपरेशन को अंजाम दिया। मारे गए आतंकियों से हथियार बरामद किए गए हैं।
पट्टन इलाके के यीदिपोरा में आतंकियों के छुपे होने की सूचना मिली थी
बारामुला जिले के पट्टन इलाके के यीदिपोरा में आतंकियों के छुपे होने की सूचना पर वीरवार देर रात सेना की 29 राष्ट्रीय राइफ ल्स (आरआर), 176 बटालियन सीआरपीएफ  और एसओजी क्रीरी, पट्टन और बारामुला ने इलाके की घेराबंदी की। इसके बाद तलाशी अभियान चलाया गया। शुक्रवार सुबह करीब 6 बजे घेरा सख्त होता देख मकान में छिपे आतंकियों ने तलाशी दल पर फायरिंग शुरू कर दी। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ शुरू होने से पूर्व आतंकियों को समर्पण का मौका दिया गया, लेकिन उन्होंने समर्पण करने के बजाय दो परिवार के 12 लोगों को बंधक बना लिया। इसमें मासूम बच्चा भी शामिल था। सभी को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। बचाव कार्य के दौरान छिपे आतंकियों की ओर से फायरिंग किए जाने से सेना के एक मेजर व दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।
पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया गया है, जिनकी फिलहाल शिनाख्त नहीं हो सकी है। हालांकि, सूत्रों ने बताया कि मारे गए आतंकियों में से दो ओल्ड बारामुला के शफाकत अहमद व हनान बिलाल सोफी थे। पुलिस ने बताया कि मारे गए आतंकियों का संस्कार डीएनए सैंपल लेने तथा कानूनी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद कर दिया जाएगा। यदि कोई मारे गए आतंकियों के लिए दावा करता है तो वह पहचान बताकर संस्कार में शामिल हो सकता है।