उत्तराखंड के उत्तरकाशी से लगी चीन सीमा पर भी भारतीय सेना ने चौकसी बढ़ाई

लद्दाख क्षेत्र में चीन के साथ बढ़ते तनाव के बीच चीन की उत्तराखंड के उत्तरकाशी से लगी सीमा पर भी भारतीय सेना ने चौकसी बढ़ा दी है। इसके लिए बॉर्डर पर अतिरिक्त सुरक्षा बल की तैनाती की जा रही है। आजकल चिन्यालीसौड़ हवाई अड्डा भारतीय सेना का ट्रांजिट कैंप बना हुआ है।

जनपद से चीन की करीब 117 किमी सीमा लगती है। यहां सीमाओं की सुरक्षा के लिए अग्रिम चौकियों पर भारतीय सेना के जवानों के साथ ही आईटीबीपी के हिमवीर पूरी मुस्तैदी के साथ निगरानी कर रहे हैं। हिमालय की दुर्गम रेंज के चलते इस ओर से बॉर्डर काफी हद तक सुरक्षित है। अभी तक इस हिस्से में चीन की ओर से कभी घुसपैठ की कोई घटना नहीं हुई है। इसके बावजूद भारतीय सेना पूरी सतर्कता बरत रही है।

सीमावर्ती क्षेत्र में लड़ाकू विमान उड़ान भरकर रेकी कर रहे
बीते कुछ दिनों से भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान इस सीमावर्ती क्षेत्र में उड़ान भरकर रेकी कर रहे हैं, जबकि सड़क के रास्ते भी अतिरिक्त सुरक्षा बल बॉर्डर की ओर भेजे जा रहे हैं। चिन्यालीसौड़ हवाई अड्डा आजकल सेना का ट्रांजिट कैंप बना हुआ है।

देश के अन्य हिस्सों से बख्तरबंद वाहनों में बड़ी संख्या में सेना के जवान यहां पहुंच रहे हैं। कुछेक दिन यहां ठहरने के बाद इन जवानों को हर्षिल एवं नेलांग क्षेत्र की अग्रिम चौकियों की ओर भेजा जा रहा है। बीते एक हफ्ते में यहां सेना के करीब 400 जवानों की आमद हो चुकी है। राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा मामला होने के कारण सेना एवं प्रशासन के अधिकारी इस बारे में कुछ बता नहीं रहे हैं।