भारत ने कहा, पाकिस्तान में हर साल सैकड़ों पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को साजिश के तहत मारा जा रहा है

भारत ने पाकिस्‍तान को वैश्विक मंच पर भारत के खिलाफ गलत बयानी करने के लिए फटकार लगाई है। जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने कल पाकिस्तान द्वारा दिए गए बयान का जवाब दिया।जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र स्थायी मिशन में भारत के प्रथम सचिव पवन बाधे ने कहा कि भारत के खिलाफ अपमानजनक और अस्वीकार्य भाषा का सहारा लेना पाकिस्तान के संदिग्ध मानवाधिकार रिकॉर्ड को सुधार नहीं सकता है।
उन्होंने कहा कि भारत के खिलाफ कोई भी मनगढ़ंत शब्द इस तथ्य को बदलने वाला नहीं है कि पाकिस्तान और उसके नियंत्रण वाले क्षेत्रों में पत्रकार, मानवाधिकार-रक्षक, सामाजिक कार्यकर्ता और धार्मिक तथा जातीय अल्पसंख्यक बेमौत मारे जाते हैं।बाधे ने अपने वक्‍तव्‍य में कहा कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की भारत पर गलत बयानबाजी इस तथ्य को नहीं बदल सकती कि पाकिस्तान में हर साल सैकड़ों पत्रकार और मानवाधिकार रक्षक शासन-प्रशासन द्वारा मारे जाते हैं।

मानवाधिकारों और लोकतांत्रिक मूल्यों के बारे में पाकिस्तान के ऐतिहासिक खराब रिकॉर्ड पर कटाक्ष करते हुए भारत ने कहा कि जब दुनिया आगे बढ़ रही है, पाकिस्तान अभी भी आधुनिक कानूनों, लोकतंत्र और मानव अधिकारों के वास्तविक अर्थ को समझने में नाकाम है।