भारत ने खोली चीन के दावों की पोल, पीएलए लगातार भड़काने वाले कदम उठा रहा है

ईस्टर्न लद्दाख में एलएसी पर एक बार फिर तनाव काफी बढ़ गया है। भारत ने कहा कि चीन लगातार समझौते का उल्लंघन कर रहा है और लगातार भड़काने वाले कदम उठा रहा है। बयान के मुताबिक, सात सितंबर को चीन के सैनिकों ने हमारी एक फॉरवर्ड पोजिशन के पास आने की कोशिश की जब भारतीय सैनिकों ने उन्हें रोका तो चीनी सैनिकों ने हवा में कुछ राउंड फायर किया ताकि भारतीय सैनिकों पर दबाव बना सकें। इतने भड़काने के बाद भी भारतीय सैनिकों ने संयम बरता और मैच्योर तरीके से बर्ताव किया। भारतीय सेना के मुताबिक, चीन के वेस्टर्न थिएटर कमांड की तरफ से जारी किया गया बयान उनके लोगों को और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों को मिसलीड करने के लिए है।

एक तरफ बातचीत, दूसरी तरफ ऐसी हरकतें
भारत ने ताजा बयान में चीन के दोहरे रवैये को भी सामने रखा है। सरकार ने कहा कि भारत जहां एलएसी पर तनाव कम करने की कोशिश में लगा हुआ है, चीन जान-बूझकर उकसावे वाली गतिविधियां कर रहा है। सरकार ने साफ शब्‍दों में कहा कि सेना ने किसी भी मौके पर फायरिंग नहीं की।

ताजा झड़प पर सेना का बयान।

आधी रात चीन ने लगाया आरोप
इससे पहले सोमवार देर रात चीन ने आरोप लगाया कि पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे एलएसी पर भारतीय सेना ने फायरिंग की। चीन के वेस्टर्न थिएटर कमांड के कमांडर की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि यह घटना 7 सितंबर यानी सोमवार को हुई। चीन के मुताबिक भारतीय सेना ने बातचीत की कोशिश कर रहे चीन बॉर्डर गार्ड के लोगों पर वॉर्निंग शॉट फायर किए और फिर चीन बॉर्डर गार्ड के जवानों ने हालात काबू करने के लिए जरूरी कदम उठाए।

चीन ने आरोप लगाया कि भारतीय सेना ने शेनपाओ की पहाड़ी पर एलएसी क्रॉस की और आरोप लगाया कि भारत ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया है। इससे क्षेत्र में तनाव और गलतफहमी बढ़ेगी। चीनी सेना के वेस्टर्न थिएटर कमांड के कमांडर की तरफ से कहा गया कि हम भारतीय पक्ष से मांग करते हैं कि वह खतरनाक कदमों को रोके और फायरिंग करने वाले शख्स को सजा दे और सुनिश्चित करें कि ऐसी घटना फिर से ना हो।